युद्ध की आहट

बगदाद

अमेरिका की बगदाद हवाई अड्‌डे पर एयर स्ट्राइक, ईरान के सुप्रीम सैन्य कमांडर सुलेमानी की कार को ड्रोन से उड़ाया, ईरान ने दी बदले की धमकी

ट्रंप का रिवेंज कार्ड… ईरान की कुद्स फोर्स के प्रमुख कासिम सुलेमानी को अमेरिका ने मार गिराया। ईरान सहित इस्लामिक देशों पर दबाव का यह ट्रंप कार्ड दुनिया के कई देशों की युद्ध रणनीतियां बदल सकता है…

अमेरिका की एक कार्रवाई से अंतरराष्ट्रीय जगह में हड़कंप मच गया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर अमेरिका ने गुरुवार देर रात बगदाद के एक एयरपोर्ट पर हवाई हमला बोला और ईरान के शीर्ष सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी समेत 8 लोगों को मार गिराया। अमेरिका का आरोप है कि जनरल कासिम मध्य-पूर्व में अमेरिकी राजनयिकों और इराक में यूएस के सैनिकों को मारने की साजिश रच रहे थे। इस हमले के बाद अमेरिका और ईरान में तनाव बेहद बढ़ गया है।

वहीं इराक से भी अमेरिकी संबंधों में खटास आ गई है। ईरान के विदेश मंत्री जावेद जरीफ ने कहा है कि अमेरिका को इस दुस्साहस की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। सुलेमानी ईरान की कुद्स सेना के प्रमुख थे। इराक के हशद अल शाबी के कमांडर ने भी संभावित जंग के लिए अपने लड़ाकों को तैयार रहने को कहा है। ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्लाह अली खामेनेई ने अमेरिका को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि इस पवित्र जंग में हमारी जीत सुनिश्चित है। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि ईरान अमेरिका की प्रसारवादी नीति का और ताकत से विरोध करेगा और इस्लामी मूल्यों की रक्षा करेगा। उधर रूस सहित कई देशों ने अमेरिका की कार्रवाई को गलत बताया।

ट्रंप ने जश्न में पोस्ट किया अमेरिकी ध्वज

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सुलेमानी के मारे जाने के ठीक बाद अमेरिका का झंडा ट्वीट किया। सुलेमानी कई मौकों पर ट्रंप को चेतावनी भी दे चुके थे। माना जा रहा है कि ट्रंप ने इसके जरिए ईरान को सीधे संदेश देने की कोशिश की।

सुलेमानी इसलिए थे अमेरिका के दुश्मन : इराक में सुलेमानी की अहम भूमिका थी। बगदाद को आईएस के आतंक से बचाने के लिए उनके ही नेतृत्व में ईरान समर्थक फोर्स का गठन हुआ था, जिसका नाम पॉप्युलर मोबिलाइजेशन फोर्स था। अमेरिका जनरल सुलेमानी को अपना दुश्मन मानता था। वे लंबे समय से अमेरिका के निशाने पर थे।

दूतावास पर हमले का बदला लिया : सुलेमानी को अमेरिका ने ऐसे वक्त में मारा है, जब कुछ दिनों पहले ही बगदाद स्थित उसके दूतावास पर हुए हमले में ईरान का हाथ होने की बात सामने आई थी। अमेरिका रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा था कि खेल अब बदल चुका है। अमेरिकी मिलिट्री फोर्सेज की ओर से भी करार जवाब दिया जाएगा।

तो मचेगा तेल के लिए कोहराम : सुलेमानी को मार गिराए जाने का असर विश्व के बाकी देशों पर भी दिखाई दे रहा है। खबर है कि ईरान जल्द ही होरमुज जलमार्ग बंद कर सकता है। यह बंद होता है तो दुनिया में तेल के लिए हाहाकार मच जाएगा। रणनीतिक रूप से होरमुज जलडमरूमध्य तेल व्यापार का सबसे अहम रास्ता माना जाता है।

Next Post

पेट्रोल पंप ने डीज़ल देने से मना कर दिया तो 3 घंटे बस से सफ़र कर पहुँचे कैबिनेट मीटिंग में

Sat Jan 4 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। मुझे मंत्री मतलब धनी समझ आता है। क्या आपने कभी आपने सोचा है कि कोई मंत्री अपनी गाड़ी में पेट्रोल भराने के लिए जाए और पेट्रोल पंप वाला उन्हें डीज़ल देने से मना कर दे। यकीन करना मुश्किल है लेकिन पुडुचेरी में कुछ ऐसा ही देखने को […]