ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग के लिए अनूठे तरीकों से मदद करेंगे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

विभव देव शुक्ला

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में आग लगी है जानवरों से लेकर इंसान तक सभी परेशान हैं। अभी तक आई खबरों की मानें तो अब तक लगभग 50 करोड़ जानवरों की मौत हो चुकी है और 50 से अधिक इन्सानों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया का एक बड़ा जंगली इलाका राख़ हो चुका है, लगभग हज़ार के आस-पास घर जल चुके हैं। लेकिन इतना कुछ होने के बाद लोगों का एक बड़ा हिस्सा मदद के लिए आगे भी आ रहा है।

नीलाम करेंगे पसंदीदा कैप
आम लोगों के अलावा खिलाड़ियों से लेकर फिल्मी सितारों तक, कई दिग्गज लोग इस आपदा में मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर शेन वॉर्न अपनी बैगी ग्रीन कैप की नीलामी करने वाले हैं। नीलामी से मिलने वाली राशि की मदद से वह ऑस्ट्रेलिया के जंगलों की आग से पीड़ित लोगों की मदद करेंगे। शेन वॉर्न ने ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए इसके बारे में जानकारी दी।
ट्वीट में शेन ने लिखा ‘ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी इस आग ने सभी की हालत बदतर कर दी है। इस डरावनी आग का असर जितने लोगों पर हुआ है और जिस तरह हुआ उस बारे में सोच पाना भी मुश्किल है। न जाने कितनी जानें गईं, न जाने कितनों के घर उजड़ गए और 50 करोड़ से अधिक जानवरों ने जान गंवाई। हम सभी को इस परेशानी का सामना एक साथ करना होगा और रोज़ मदद के लिए आगे आना होगा।’

छक्कों से होगी मदद
इसके बाद शेन वॉर्न ने कहा इस आपदा को देखते हुए मैंने अपनी बेहद कीमती बैगी ग्रीन कैप की नीलामी करने का फैसला लिया है। मैंने इस कैप को अपने पूरे टेस्ट करियर के दौरान पहना था। इसके पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम के तमाम खिलाड़ी इस आग से हुई नुकसान की भरपाई के लिए आगे आ चुके हैं। इस सूची में क्रिस लिन, ग्लेन मैक्सवेल और डीआर्की शॉर्ट का नाम पहले ही शामिल है।
खिलाड़ियों का कहना है, बिग बैश लीग में वह जितने भी छक्के मारेंगे उससे मिलने वाले 250 डॉलर, मदद के लिए देंगे। अंत में शेन वॉर्न ने कहा यह कैप मेरे लिए बहुत कीमती है, मैंने लगभग हर टेस्ट मैच में इस कैप को पहना है। मैं उम्मीद करता हूँ कि इस कैप की मदद से इतने रुपए इकट्ठा हो जाएँ कि आग से प्रभावित लोगों की मदद हो पाए। शेन वॉर्न के अलावा टेनिस स्टार मारिया शारापोवा और नोवाक जोकोविक ने भी आग से प्रभावित लोगों की मदद के लिए काफी दान किया है।

Next Post

'जब महिलाएं बड़ी संख्या में बाहर निकलती हैं, तो कानून बदल जाते हैं'-बुर्क़ा-बिंदी प्रोटेस्टर

Mon Jan 6 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। हम नए सत्र में प्रवेश कर चुके हैं लेकिन अभी भी नागरिकता संशोधित कानून का विरोध देशभर में ज़ारी है। कई राज्य सरकारों ने भी इसके खिलाफ अपना विरोध दर्ज करवाया है। इसी क्रम में जहाँ क्रिएटिव प्रदर्शनकारी देखे जा रहे हैं वहीं उनके प्रोटेस्ट का नामकरण […]