यदि संसद चाहे तो पाकिस्तान भी भारत का हिस्सा बन सकता है-जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। भारतीय सेना के नए प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने आने वाले समय में सेना का विजन साझा किया। शनिवार 11 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सेना को लेकर कई बातें कही। उन्होंने कहा कि अगर संसद फैसला लेती है तो पाक अधिकृत कश्मीर को लेकर हम ऐक्शन लेंगे।

दिल्ली में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सेना प्रमुख से सवाल किया गया कि क्या राजनीतिक नेतृत्व के कहे अनुसार गुलाम कश्मीर भारत का हिस्सा हो सकता है।

इस पर उन्होंने जानकारी देते हुए कहा, “छह अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर पश्चिमी सीमाओं पर तैनात सेना की इकाई को दिए जाएंगे। एक संसदीय संकल्प है कि पूरा जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा है। यदि संसद ऐसा चाहती है, तो उस क्षेत्र (गुलाम कश्मीर) को भी हमारा होना चाहिए। जब हमें इस दिशा में आदेश मिलेगा हम उचित कार्रवाई करेंगे।”

नरवणे ने बताया अल्पावधि और दीर्घकालिक खतरा

सेना की परिचालन प्राथमिकताओं पर सेनाध्यक्ष ने कहा, ‘जहां तक भारतीय सेना का सवाल है हमारे लिए अल्पावधि खतरा घुसपैठ को रोकने के लिए की जाने वाली कार्रवाई है। वहीं दीर्घकालिक खतरा पारंपरिक युद्ध है और इसकी हम तैयारी कर रहे हैं।’

शुरु हुई महिलाओं के पहले बैच की ट्रेनिंग

इस दौरान उन्होंने मंत्र देते हुए कहा कि हम आने वाले दिनों में क्वालिटी पर ध्यान देंगी ना की क्वांटिटी पर। फिर चाहे वो सेना के लिए उपकरण खरीदना हो या फिर सेना में जवानों की भर्ती करना। वहीं, सेना में महिला जवानों को शामिल करने पर उन्होंने कहा कि 6 जनवरी से 100 महिला जवानों के पहले बैच का प्रशिक्षण शुरु कर दिया गया है।

एलओसी पर सतर्क सेना

एलओसी पर पाकिस्तान सेना और आतंकियों द्वारा दी गई धमकी पर आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने कहा कि सेना बेहद सक्रिय हैं। खुफिया अलर्ट रोजाना प्राप्त होते हैं और उन्हें बहुत गंभीरता से देखा जाता है। इन अलर्ट के कारण ही हम BAT क्रियाओं के रूप में जाने जानी वाली इन क्रियाओं को विफल करने में सक्षम हैं।

सीडीएस की नियुक्ति को बताया एतिहासिक कदम

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने आगे कहा कि रक्षा स्टाफ के प्रमुख (सीडीएस) की नियुक्ति सैन्य मामलों के विभाग का निर्माण एकीकरण की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम है और हम अपनी ओर से यह सुनिश्चित करेंगे कि यह सफल रहे।

पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान सेना द्वारा दो निहत्थे नागरिकों की हत्या पर मीडिया को सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने कहा कि हम इस तरह की बर्बर गतिविधियों का सहारा नहीं लेते हैं और एक बहुत ही पेशेवर बल के रूप में लड़ते हैं। हम सैन्य रूप से ऐसी स्थितियों से उचित तरीके से निपटेंगे।

Next Post

ऐसा क्या कहा क्रिकेट के दिग्गजों ने जो देश के युवाओं को सुनना और समझना चाहिए

Sun Jan 12 , 2020
विभव देव शुक्ला पूरे देश की जनता ने बीते कुछ दिनों पहले ऐतिहासिक विरोध देखा और कभी न भूलने वाली बहस का हिस्सा बनी। विरोध और बहस के बीच बनी इस जगह में तमाम तरह के लोग भी शामिल हुए, जिसमें सबसे ज़्यादा उल्लेखनीय रहे दिग्गज। फिल्मी दुनिया के फनकार, […]