शंकर महादेवन ने बांसुरी बजाने वाले को रातों रात बनाया सोशल मीडिया का सितारा

विभव देव शुक्ला

सोशल मीडिया के साथ एक बड़ी खासियत यह है कि इस पर अपनी बात या अपना हुनर सामने रखने वाले तमाम लोग रातों रात मशहूर हो जाते हैं। ज़रा से समय उन्हें लाखों तो कभी करोड़ों लोग देख लेते हैं, पल भर में उनके लाखों-करोड़ों चाहने वाले बन जाते हैं। लेकिन पिछले कुछ समय से इस तरीक़े में कुछ इज़ाफ़ा हुआ है, अब फिल्मी दुनिया से जुड़े फनकार ऐसे लोगों को आगे लेकर आते हैं। इस कड़ी में सबसे ताज़ा मामले में जिस घटना का ज़िक्र हो रहा है उसमें शंकर महादेवन ने एक बांसुरी बजाने वाले का वीडियो साझा किया है।

नाश्ता करते हुए सुनी थी बांसुरी की ध्वनि
पिछले दो दिनों से सोशल मीडिया पर इस वीडियो को खूब देखा और साझा किया गया। शंकर महादेवन असम के एक होटल में नाश्ता कर रहे थे तभी उन्होंने एक व्यक्ति को बांसुरी बजाते हुए सुना। वीडियो की शुरुआत में शंकर महादेवन कहते हैं कि ‘मैं नाश्ता करने आया था और आप सभी को यह जान कर हैरानी होगी कि एक शास्त्रीय गीतकार होटल के बाहर बांसुरी बजा रहा था। इस बांसुरी वादन में बहुत गहराई और जज़्बात थे।
इसके बाद बांसुरी बजाने वाले को आगे करते हुए शंकर महादेवन ने कहा ‘यह हैं असम के दिलीप हीरा और यह अद्भुत बांसुरी बजाते हैं। फिर दिलीप की तरफ इशारा करते हुए महादेवन ने कहा ‘आप हमारे दर्शकों को कुछ अच्छा सुना दीजिये’। इसके बाद दिलीप हीरा ने शंकर महादेवन की सरगम के साथ बांसुरी बजाई। वीडियो के अंत में महादेवन ने दिलीप की तारीफ करते हुए कहा ‘क्या बात है, ईश्वर आप पर आशीर्वाद बनाए रखे, यह हमारे देश का हुनर है’।

20 लाख से अधिक लोग देख चुके
महादेवन ने इस वीडियो को 10 जनवरी के दिन साझा किया था। 1 मिनट 47 सेकेंड के इस वीडियो को अभी तक लगभग 20 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं। इतना ही नहीं वीडियो को लगभग 35 हज़ार लोग साझा कर चुके हैं और 84 हज़ार लोग पसंद कर चुके हैं। इसके पहले भी फिल्मी दुनिया के तमाम दिग्गजों ने आम लोगों की सोशल मीडिया के ज़रिये मदद की। बेशक फिल्मी सितारों का आम जनता के बीच हुनरमंदों की मदद के लिए आगे आना सराहनीय है।

Next Post

रिवर्स माइक्रोवेव महज़ एक मिनट में 2 लीटर बियर चिल्ड कर सकता है

Sun Jan 12 , 2020
विभव देव शुक्ला अगर आप पीने के शौकीन हैं तो यह ख़बर आपके दिन की सबसे अच्छी ख़बर साबित हो सकती है। आम तौर पर पीने वाली चीजों को ज़्यादा ठंडा या कहें चिल्ड करने में समय लगता है और पीने वालों से इंतज़ार बिलकुल नहीं होता। ऐसे में अगर […]