आखिर क्यों हजारों कबूतर यातायात पुलिसकर्मी के कंधों पर बैठ जाते हैं

विभव देव शुक्ला

जीव जन्तुओं को लेकर हमारा रवैया संवेदनशील होना चाहिए इस बात से शायद ही कोई इंसान असमत हो। इसका ही नतीजा है कि अक्सर हमारे सामने ऐसी घटनाएँ और ऐसे किस्से होते हैं जिनमें आम लोगों की जीव-जन्तुओं के प्रति सहानुभूति नज़र आती है। जिनसे जुड़ी ख़बरों को देख कर हम कह सकते हैं कि लोग जीवों के प्रति संवेदनशील हैं। ऐसी ही एक घटना सामने आई है उड़ीसा के मयूरभंज शहर से। जहाँ के लोग एक यातायात पुलिसकर्मी को बर्डमैन के नाम से जानते हैं।

लोग पुकारते हैं बर्डमैन
उड़ीसा के मयूरभंज ज़िले के नज़दीक एक जगह है बरीपाड़ा और यहाँ के एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी को लोग बर्डमैन कह कर पुकारते हैं। 52 साल के सूरज कुमार राज बरीपाड़ा के पुलिस स्टेशन में बतौर ट्रैफिक पुलिस अधिकारी तैनात हैं। वह अपने आस-पास मौजूद हजारों पक्षियों को दाना देते हैं या यूं कहें उनकी भूख मिटाते हैं। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए सूरज कुमार ने कहा जिस तरह शहर की यातायात व्यवस्था संभालना मेरी नौकरी है। ठीक उसी तरह मैं पक्षियों को खाना खिलाने को अपना काम मानता हूँ।

हज़ारों कबूतर करते हैं सुबह-सुबह इंतज़ार
इसके बाद उन्होंने कहा कि मुझे खुशी मिलती है जब पक्षी मेरे हाथों पर बैठ कर दाना चुगते हैं। जितना प्यार मैं उनसे करता हूँ उतना ही प्यार पक्षी मुझसे भी करते हैं। कभी-कभी तो ऐसा होता है कि जब मैं नौकरी पर होता हूँ तब वह मेरे कंधे पर आकर बैठ जाते हैं। अक्सर पक्षी मुझे भीड़ में पहचान लेते हैं। हजारों कबूतर सुबह-सुबह मेरा इंतज़ार करना शुरू कर देते हैं और दाने का बस्ता खोलने के पहले ही मेरे पास आकर शोर मचाने लगते हैं। यह अनुभव असल मायनों में शानदार है।

बाकी जानवरों को भी खिलाते हैं खाना
अंत में सूरज कुमार ने कहा मुझे अच्छा लगता है जब मैं इन जीवों को खाना खिलाता हूँ। मैं बाकी जीवों को भी खाना खिलाता हूँ जैसे गाय, वह मुझे गाड़ी पर देखते ही मेरी तरफ भागने लगते हैं। इलाके के पुलिस उपाधीक्षक का कहना है कि वहाँ के लोग सूरज को बर्डमैन कह कर ही पुकारते हैं और हम सभी को उन पर गर्व है। वह पिछले कई सालों से इन पक्षियों को दाना देते रहे हैं और वह अपने काम को लेकर भी बहुत ज़िम्मेदार हैं। पुलिस महकमे को ऐसे पुलिसकर्मियों पर गर्व है।

Next Post

जम्मू कश्मीर में यातायात नियम तोड़ने वालों को थमाए गए लॉलीपॉप

Sun Jan 12 , 2020
विभव देव शुक्ला देश के लिए यातायात दुर्घटनाएँ बड़ी समस्या हैं, जिसके चलते हर साल लाखों लोग अपनी जान गँवाते हैं। ज़्यादातर मामलों में असल वजह आम लोगों की लापरवाही होती है, जिसमें सबसे आम है सीट बेल्ट और हेलमेट। आम लोगों में यातायात को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए […]