‘आज का शिवाजी:नरेन्द्र मोदी’ पर उदयनराजे ने कहा खुद को शिवसेना न कहें बल्कि ठाकरे सेना कहें

विभव देव शुक्ला

भारतीय राजनीति में जितनी किताबें राजनेताओं पर लिखी जाती हैं वह अक्सर चर्चा में रहती हैं। उन चर्चाओं से सुर्खियां बनती हैं और कभी कभी सुर्खियां विवादों को भी जगह देती हैं। ऐसा ही कुछ विवाद हो रहा है भगवान गोयल की किताब पर। विवाद की वजहों का अंदाज़ा लगाना तभी आसान हो जाता है,
जब इस किताब का शीर्षक सामने आता है, ‘आज का शिवाजी : नरेन्द्र मोदी’। इसे शिवसेना के मुखपत्र में भक्तों का अतिउत्साह बताया गया है तो दूसरी तरफ पूर्व सांसद उदयनराजे का कहना है कि शिवसेना को खुद को ठाकरे सेना कहना चाहिए।

तुलना कितनी सही?
बीते 12 जनवरी को ‘आज का शिवाजी : नरेन्द्र मोदी’ किताब का दिल्ली स्थित भाजपा कार्यालय पर विमोचन हुआ। विमोचन के दौरान भाजपा के तमाम दिग्गज नेता भी मौजूद थे। लेकिन फिलहाल महाराष्ट्र के राजनीतिक गलियारों का माहौल काफी भारी हो चला है, बयानबाजी का दौर शुरू हो चुका है।
शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में इस मुद्दे पर लिखा है। सामना के संपादकीय में लिखा है मोदी एक लोकप्रिय नेता हैं, देश के प्रधानमंत्री के रूप में उनका कोई तोड़ नहीं है। फिर भी क्या वह देश के छत्रपति शिवाजी हैं? उनकी तुलना छत्रपति शिवाजी से करना सही है क्या?

महाराष्ट्र की जनता मूर्ख नहीं
इसका महज़ एक ही जवाब है ‘नहीं-नहीं’। जो लोग उनकी तुलना शिवाजी से कर रहे हैं उन्होंने असल मायनों में छत्रपति शिवाजी राजे को समझा ही नहीं। प्रधानमंत्री मोदी को यह तुलना खुद नहीं पसंद आई होगी पर जज़्बाती भक्त उनके लिए अक्सर समस्या खड़ी कर देते हैं। यह मामला कुछ अलग नहीं है।
इस मुद्दे पर पूर्व सांसद उदयनराजे भोसले ने भी अपनी तरफ से प्रतिक्रिया दी। उदयनराजे का कहना है शिवसेना का समय अब खत्म हो चुका है। खुद को शिवसेना कहना बंद करें बल्कि खुद को ठाकरे सेना कहना चाहिए। महाराष्ट्र के लोग सब समझ चुके हैं, महाराष्ट्र की जनता मूर्ख नहीं है।

Next Post

"मैं तो भारत आने वाले बांग्लादेशी शरणार्थी को इन्फोसिस का अगला सीईओ बनते देखना पसंद करूंगा"-सत्या नडेला

Tue Jan 14 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। नागरिकता संशोधन कानून पर रोज़ कुछ न कुछ सुनने या पढ़ने को मिल ही जा रहा है। हर दिन किसी नेता-मंत्री का आरोप लगाने से लेकर समर्थन करने के बयान आ ही जाता है इसी क्रम में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ का बयान आया है। अमेरिकी शहर मैनहटन […]