पति के 25 साल सरपंच रहने के बाद 97 साल की महिला ने जीता सरपंच का चुनाव

विभव देव शुक्ला

हमारे समाज की बुनियाद में किस्से और कहावतें कूट-कूट कर भरी हुई हैं। कहावतों के लच्छेदार पिटारे में अंग्रेज़ी की कहावत कुछ ऐसी है ‘ओल्ड इज़ गोल्ड’। यानी जितनी ज़्यादा उम्र ज़िन्दगी उतनी गुलज़ार, मौके उतने बेहिसाब। हालांकि ऐसे लोग कम ही नज़र आते हैं जो उम्र के साथ अपनी शख्सियत को आयाम दे पाते हैं। कुछ ऐसा ही देखने को मिला है राजस्थान के सीकर ज़िले में जहां 97 वर्ष की महिला ने सरपंच पद पर जीत हासिल की है।

207 मतों से जीत दर्ज की
राजस्थान के सीकर ज़िले में एक जगह है नीमकाथाना और वहीं से नज़दीक स्थित है पुराणावास नाम की ग्राम पंचायत। 97 साल की विद्यादेवी ने पुराणावास ग्राम पंचायत से जीत हासिल की है। राजस्थान के स्थानीय समाचार समूह में प्रकाशित रपट के मुताबिक पंचायत चुनाव के पहले चरण के मतदान में पुराणावास ग्राम पंचायत में सरपंच के पद पर जीत दर्ज की। उन्होंने अपनी निकटतम प्रतिद्वंदी आरती मीणा को कुल 207 मतों से हराया।

25 साल पति रहे सरपंच
विद्या देवी के पति साल 1990 के बाद से लगातार 25 वर्षों तक सरपंच का चुनाव जीते। विद्या देवी को सरपंच के चुनाव में कुल 843 मत मिले और वहीं उनकी प्रतिद्वंदी आरती मीणा को 636 मत मिले। पुराणावास ग्राम पंचायत में 4200 मतदाता हैं जिसमें से 2856 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। इस ग्राम पंचायत से कुल 11 प्रत्याशी चुनाव में उतरे थे लेकिन विद्या देवी उन सभी पर भारी पड़ी थीं।

तमाम चुने गए निर्विरोध
पंचायत के पहले चरण के चुनाव में 87 पंचायत समितियों की 2726 ग्राम पंचायतों के लिए 26800 वार्डों के लिए बीते दिन मतदान समाप्त हुआ। इन पंचायत समिति क्षेत्रों में कुल 9320684 मतदाता हैं। सरपंच पद के लिए 17242 और पंच पद के लिए 42704 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस बीच राज्य भर में 36 सरपंच और 11035 पंच निर्विरोध चुन लिए गए हैं।

चल सकती हूँ कई किलोमीटर
एक समाचार समूह से बात करते हुए विद्या देवी ने अपने काम से जुड़ी तमाम बातें कहीं। उन्होंने कहा मुझे स्वास्थ्य से जुड़ी कोई परेशानी नहीं है। मैं इस उम्र में भी रोज़ाना कई किलोमीटर तक चल सकती हूँ। मेरी कोशिश रहेगी कि गाँव की तमाम गरीब और वंचित विधवाओं को वेतन दिला पाऊँ। इसके अलावा मेरी कोशिश रहेगी कि उनके वेतन में बढ़ोतरी भी हो। अंत में उन्होंने कहा मैं गाँव में हर बुनियादी परेशानी को खत्म करने का प्रयास करूंगी, बिजली से लेकर सड़क तक आर सड़क से लेकर पानी तक।

Next Post

दो राज्यों के दो जोड़ों ने सीएए के समर्थन में छपवाया शादी का अनूठा कार्ड

Sat Jan 18 , 2020
विभव देव शुक्ला पूरे देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर विरोध भी हुआ और समर्थन भी, आलोचना भी हुई और सराहना भी। लेकिन विरोध और समर्थन के बीच लटकी इस बहस के दौरान दोनों ही पक्षों में भरपूर अनूठे तरीके देखने को मिले। कहीं विरोध का तरीक़ा सुर्खियों की […]