विराट और मनीष के जाने से हमारी योजना पर कोई असर नहीं पड़ा – केएल राहुल

विभव देव शुक्ला

बीते दिन भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मुक़ाबले में भारतीय टीम ने 36 रन से जीत दर्ज की। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम के सामने 340 रन का लक्ष्य रखा था। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 304 रन ही बना पाई। मैच के दौरान तमाम खिलाड़ियों का योगदान रहा, इस कड़ी में एक अहम नाम था केएल राहुल। राहुल ने टीम के लिए 50 गेंदों पर 80 रन बनाए।

हर बार नई ज़िम्मेदारी मिलना सौभाग्य
इसके बाद राहुल ने पत्रकारों से बात करते हुए कई अहम बातें कहीं। उन्होंने कहा हर खेल में मौजूद रहना, हर खेल में नई ज़िम्मेदारी निभाना और हर बार एक नया किरदार निभाना किसी आशीर्वाद से कम नहीं है। मुझे नहीं लगता हर बल्लेबाज को ऐसा मौका मिलता है। मुझे जब भी बैटिंग करने का मौका मिलता है और जिस संख्या पर बैटिंग करने का मौका मिलता है मुझे खुशी होती है। मैं बस अपनी टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूँ।

हमारी तैयारी ही ऐसी थी
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत दर्ज करने वाले इस मैच में राहुल 5वें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए थे। जबकि आम तौर पर राहुल शुरुआत में ओपनिंग करने ही आते हैं। लेकिन 5वें नंबर पर बल्लेबाजी करने के बावजूद राहुल के प्रदर्शन के चलते भारतीय टीम के इतना रन बना पाना आसान हुआ। इसके अलावा राहुल ने कहा यह अपने आप में चुनौती थी और पिछले कुछ महीनों के दौरान शृंखला में आना अच्छा रहा।
मैं पिछले कुछ समय से अपने प्रदर्शन और कौशल को लेकर आश्वस्त रहा हूँ। हमारी योजना साफ थी कि हम अंतिम 5 ओवर में जितने ज़्यादा से ज़्यादा रन बना सकते थे हमारे लिए उतना बेहतर होता। हम इस तैयारी के साथ ही खेल रहे थे कि हमें कहीं न कहीं 320 या 330 रन बनाने ही हैं। विराट और मनीष के एक साथ जाने से हमारी योजना पर असर नहीं पड़ा, जडेजा के आने तक योजना वैसी की वैसी ही रही।

कोहली और धवन ने भी खेली अहम पारी
कप्तान विराट कोहली ने भी मैच के दौरान 76 गेंदों पर 78 रन की अहम पारी खेली। साथ ही कोहली ने धवन और रोहित के साथ महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई। धवन ने 90 गेंदों पर 96 रनों की अहम पारी खेली लेकिन बल्लेबाजी के दौरान उन्हें पसलियों में चोट लग गई। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट के नुकसान पर कुल 340 रन का लक्ष्य सामने रखा था (शिखर-96, केएल राहुल-80)। बाद में बल्लेबाजी करने आई ऑस्ट्रेलियाई टीम 10 विकेट के नुकसान पर 304 रन ही बना पाई।

Next Post

मां बनने के बाद सानिया ने जीता पहला और करियर का 42वां खिताब

Sun Jan 19 , 2020
होबार्ट होबार्ट इंटरनेशल टूर्नामेंट… सानिया और नादिया किचेनोक ने पेंग और झांग की जोड़ी को 6-4, 6-4 से हराया मां बनने के बाद पहली बार किसी टूर्नामेंट में खेल रही भारत की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने डब्ल्यूटीए सर्किट में शानदार वापसी करते हुए होबार्ट इंटरनेशल टूर्नामेंट रूप […]