मैं खुद को रिवॉल्वर से उड़ा लेना चाहता था : प्रवीण कुमार

नई दिल्ली

टीम इंडिया के कभी सबसे स्टीक गेंदबाजों में से एक रहे प्रवीण कुमार ने कहा है कि टीम से बाहर होने पर वह इतने डिप्रेशन में आ गए थे कि खुद को गोली से उड़ा देना चाहते थे। एक इंटरव्यू के दौरान डिप्रेशन से वापसी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी क्रिकेटर के लिए राष्ट्रीय टीम से खेलना गर्व का पल होता है। मैंने क्रिकेट खेली। लेकिन मैं इससे तब बाहर हुआ, जब मुझे इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।

2008 में ऑस्ट्रेलिया में खेली गई सीबी सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने के लिए जाने जाते प्रवीण ने कहा कि टीम इंडिया से बाहर होने पर वह डिप्रेशन में चले गए थे। तब यह समय सबसे खराब था। दिल करता था कि अपने रिवॉल्वर से खुद को शूट कर लूं। प्रवीण ने इस दौरान चोटें और इन-डिस्पिलिन के आरोपों पर भी बात की।

प्रवीण ने कहा कि चोटों से मेरा करियर प्रभावित रहा। इस दौरान बताया गया कि मैं ज्यादा पीता हूं। कृपया आप मुझे बताए कि कौन नहीं पीता। लोगों ने पता नहीं क्यों खुद ही यह धारणा बना ली। कोई व्यक्ति मेरे द्वारा की गई अच्छी चीजों को नहीं देखता। मैं युवा बच्चों को स्पॉन्सर करता हूं। मैंने 10 लड़कियों की शादियां करवाई हैं। मैंने क्रिकेटरों की आर्थिक मदद की है। इंडिया में बस एक हवा बनाते हैं लोग। मेरी हवा गलत बनाई गई। हवा तो हवा है, एक बार चल गई तो कोई कुछ नहीं कर सकता।

प्रवीण ने बताया कि जूनियर क्रिकेट खेलते समय एक बार मेरी दाईं आंख पर चोट लगी थी। मुझे एक आंख से ठीक से दिखाई नहीं देता। मैंने दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज कराया। डॉक्टर ने कहा कि वे एक प्रत्यारोपण कर सकते हैं, लेकिन दृष्टि की वापसी की गारंटी नहीं दे सकते हैं। केस खराब भी हो सकता है। तब मेरे पिता ऑपरेशन के विरोध में थे। प्रवीण ने बताया कि जब तक वह टीम इंडिया में रहे, तब तक सिर्फ रोहित शर्मा को ही उनकी इस कमजोरी के बारे में पता था। मैं ज्यादातर स्लो गेंदों पर ही आऊट हुआ हूं। इसका एक कारण यह भी है कि मुझे बॉल दिखती नहीं थी।

Next Post

मस्जिद में हुई हिंदू जोड़े की शादी, उपहार में मिले सोने के सिक्के

Mon Jan 20 , 2020
अलप्पुझा केरल में सांप्रदायिक एकता की मिसाल… सीएम पिनराई विजयन ने बधाई देकर कहा, केरल एक है और आगे भी रहेगा केरल के लोगों ने सामाजिक एकता की शानदार मिसाल पेश की है। रविवार को केरल के अलप्पुझा की एक मस्जिद में हिंदू जोड़े की शादी करवाई गई। इस विवाह […]