यौन उत्पीड़न का दोषी पायलट सेवा में बहाल

नई दिल्ली

सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया की अजब कहानी है। महिला सहकर्मी के यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद पिछले साल मई में निलंबित किए गए अपने एक वरिष्ठ पायलट को कंपनी ने सेवा में बहाल कर दिया है। हालांकि पायलट को आंतरिक समिति की जांच में दोषी पाया गया है और उस पर “भारी जुर्माना” लगाया गया है। वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि समिति ने कैप्टन सचिन गुप्ता पर ‘‘भारी जुर्माना’’ लगाया है। गुप्ता ने अब सजा के खिलाफ उच्च प्राधिकरण में अपील की है।

इस पूरे मामले की जांच एअर इंडिया की आंतरिक समिति ने की थी। आरोपी पायलट को समिति ने दोषी पाया और उन पर भारी जुर्माना लगाया गया। एअर इंडिया नॉर्दर्न रीजन के रीजनल डायरेक्टर पीएस नेगी ने बताया कि कैप्टन सचिन गुप्ता ने सजा के खिलाफ उच्च अधिकारी के समक्ष अपील की है। इसे सक्षम अधिकारी देखेंगे और सबूतों के आधार पर मामले की सुनवाई करेंगे। गुण-दोष के आधार पर उक्त अपील की जांच की जाएगी।
एअर इंडिया के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फिलहाल गुप्ता को अनुदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

भूल गए चेयरमैन की सीख

पिछले वर्ष शुरुआती छह महीने में महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न की कुल 8 शिकायतें दर्ज की गई थी। वहीं 2018 में 10 शिकायतें दर्ज की गई थीं। कंपनी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अश्वनी लोहानी ने 16 मई को कहा था कि जिन कर्मचारियों पर आरोप लगते हैं, उनके खिलाफ कंपनी को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने अपने संदेश में लिखा था कि यह शर्मनाक है कि यौन उत्पीड़न के इतने मामले सामने आ रहे हैं। इनके आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

Next Post

राजस्थान: पाक के सिंध में जन्मी नीता कंवर बनीं ग्राम पंचायत की सरपंच

Mon Jan 20 , 2020
टोंक/जयपुर नटवारा ग्राम पंचायत से जीत दर्ज कराई ऐसे समय में जब नागरिकता कानून को लेकर बहस चल रही है पाकिस्तान में जन्मी नीता कंवर टोंक में पंचायत की नई सरपंच बन गई हैं। टोंक की नटवारा ग्राम पंचायत से चुनाव लड़ने वाली नीता कंवर का जन्म पाकिस्तान के सिंध […]