डेमोक्रेसी इंडेक्स में भारत 10 पायदान नीचे खिसका

नई दिल्ली

लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक सूची में भारत 10 स्थान लुढ़क कर 51वें स्थान पर आ गया है। ‘द इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू)’ ने 2019 के लिए जारी डेमोक्रेसी इंडेक्स की सूची में भारत को त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र बताया है। संस्था ने दावा किया है कि भारत में नागरिक स्वतंत्रता में गिरावट आई है। सूची के मुताबिक भारत का कुल अंक 2018 में 7.23 था जो अब घटकर 6.90 रह गया है।

यह वैश्विक सूची 165 स्वतंत्र देशों और दो क्षेत्रों में लोकतंत्र की मौजूदा स्थिति का खाका पेश करती है। रिपोर्ट में भारत पर कहा गया है कि यह लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक रैंकिंग में 10 स्थान गिरकर अभी 51वें पायदान पर है। लोकतांत्रिक सूची में यह गिरावट देश में नागरिक स्वतंत्रता के ह्रास के कारण आई है। यह सूचकांक पांच श्रेणियों पर आधारित है- चुनाव प्रक्रिया और बहुलतावाद, सरकार का कामकाज, राजनीतिक भागीदारी, राजनीतिक संस्कृति और नागरिक स्वतंत्रता।

भारत को बताया त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र

इनके कुल अंकों के आधार पर देशों को चार प्रकार के शासन में वर्गीकृत किया जाता है- पूर्ण लोकतंत्र (8 से ज्यादा अंक हासिल करने वाले), त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र (6 से ज्यादा लेकिन 8 या 8 से कम अंक वाले), संकर शासन (4 से ज्यादा लेकिन 6 या 6 से कम अंक हासिल करने वाले) और सत्तावादी शासन (4 या उससे कम अंक वाले)। भारत को त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र में शामिल किया गया है। चीन 2019 में गिरकर 2.26 अंकों के साथ अब 153वें पायदान पर है। यह वैश्विक रैंकिंग में निचले पायदान के करीब है। पाकिस्तान कुल 4.25 अंकों के साथ सूची में 108वें स्थान पर है।

Next Post

फ़िल्म 'अर्जुन रेड्डी' के एक एक्टर ने बताया कि उनके साथ हुआ था रेप

Thu Jan 23 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। ‘अर्जुन रेड्डी’ और उसकी रीमेक ‘कबीर सिंह’ लगभग काफ़ी लोगों ने देखी है। आप फ़िल्म के पक्ष या विपक्ष में हैं ये एक अलग मसला है। फ़िलहाल यहां साउथ इंडस्ट्री की सुपरहिट फिल्म अर्जुन रेड्डी में काम कर चुके एक्टर राहुल रामकृष्ण ने अपने साथ हुई एक […]