2019 के विश्व कप के बाद एक बार फिर ट्वीट्स की लड़ाई में उलझे मांजरेकर और जडेजा

विभव देव शुक्ला

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑल राउंडर रवीन्द्र जडेजा और पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर सोमवार के दिन से आमने-सामने हो गए। आमने-सामने होने की वजह थी संजय मांजरेकर का एक ट्वीट, अपने ट्वीट में मांजरेकर ने लिखा,
‘Player of the match should have been a bowler’
यानी मैच का खिलाड़ी किसी गेंदबाज को होना चाहिए था।

क्या कहा जडेजा ने
जिसके जवाब में जडेजा ने ट्वीट करते हुए सवाल किया कि गेंदबाज का नाम बताया जाए। जडेजा ने अपने ट्वीट में लिखा,
What is the name of that bowler?? Pls pls mention??
यानी उस गेंदबाज का क्या नाम है? प्लीज़ प्लीज़ बताइये?
रवीन्द्र जडेजा ने साफ तौर पर कहा मैच के दौरान वह ऐसे खिलाड़ी थे जिसे मैच के खिलाड़ी का पुरस्कार मिलना चाहिए था। जडेजा के मुताबिक वह सबसे किफ़ायती गेंदबाज़ थे, उन्होंने कुल 4 ओवर में 18 रन देकर दो विकेट लिए। जिसकी वजह से न्यूज़ीलैंड की टीम 20 ओवर में 5 विकेट खो कर महज़ 132 रन बना पाई थी। भारतीय टीम ने यह लक्ष्य 15 बॉल शेष रहते ही हासिल कर लिया था।

केएल राहुल और श्रेयस का प्रदर्शन
इस मैच में केएल राहुल ने नाबाद रह कर 57 रन बनाए थे वहीं श्रेयस अय्यर ने कुल 44 रन बनाए थे। राहुल को प्लेयर ऑफ द मैच का ख़िताब मिला था और भारतीय टीम ने यह मैच 7 विकेट से जीता था। अब भारतीय टीम इस शृंखला में 2-0 से आगे चल रही है। इसके पहले भी मांजरेकर एक टिप्पणी कर चुके हैं जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी।
2019 में हुए क्रिकेट विश्वकप के दौरान मांजरेकर ने जडेजा पर टिप्पणी की थी जिस पर काफी विवाद हुआ था। मांजरेकर ने कहा था वह रवीन्द्र जडेजा जैसे खिलाड़ियों को पसंद नहीं करते हैं। जिसके बाद जडेजा ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि उन्होंने मांजरेकर से दोगुने मैच खेले हैं और अभी भी लगातार खेल रहे हैं। आपको ऐसे खिलाड़ियों का सम्मान करना चाहिए जिन्होंने ज़िन्दगी में कुछ हासिल किया है, आपका मौखिक डायरिया बहुत सुन लिया।

Next Post

एक पद्मश्री उनके नाम जिन्होंने फल बेच कर जुटाए रुपयों से बच्चों के लिए खोला विद्यालय

Mon Jan 27 , 2020
विभव देव शुक्ला गणतन्त्र दिवस से ठीक एक दिन पहले पद्म पुरस्कारों का ऐलान हुआ। इस बार कई नाम ऐसे थे जिन पर चर्चा फिलहाल जारी है, जिन नामों की कल्पना करना किसी के लिए भी मुश्किल था। ऐसा ही एक नाम है हरेकाला हजाब्बा, जो पेशे से फल विक्रेता […]