भाजपा में शामिल होकर अपने खेल के लिए क्या कहना है साइना नेहवाल का

विभव देव शुक्ला

फिल्मी सितारों और खिलाड़ियों का राजनीति में शामिल होना कभी नया नहीं रहा है और न हो सकता है। कभी चुनावों की आहट होने पर कभी छोटे-बड़े कारणों के चलते खेलों से निकल कर आने वाले खिलाड़ी अक्सर राजनीतिक दलों का हिस्सा बनते हैं। इसी कड़ी में देश की मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने सभी को चौंकाते हुए भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली। साइना के साथ उनकी बहन चंद्रान्शु नेहवाल ने भी भाजपा की सदस्यता ली।

नया है, पर अच्छा है
भाजपा में शामिल होने के बाद साइना नेहवाल ने पत्रकारों से इस बारे में बात की। साइना ने कहा मैं ऐसे राजनीतिक दल का हिस्सा बनी हूँ जो देश के लिए इतना कुछ कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के लिए इतनी मेहनत कर रहे हैं, मेरे लिए सब कुछ भले नया है लेकिन मुझे अच्छा लग रहा है। नरेंद्र मोदी सर खेलों को खूब बढ़ावा दे रहे हैं। देश के युवाओं की खेलों में रुचि कैसे बढ़े इसके लिए काफी कोशिशें कर रहे हैं।

राजनीति से लगाव है
मोदी जी का कहना है कि मैं बहुत मेहनती हूँ। मैं मोदी जी के साथ मिल कर देश के लिए कुछ करना चाहती हूँ। खेलो इंडिया से देश के युवाओं को खेलने का मौका मिलेगा, खेलों में उनकी भागीदारी बढ़ेगी। मुझे राजनीति पसंद है और प्रधानमंत्री जी से मुझे इसकी प्रेरणा मिलती है। मुझे ऐसा लगता है कि राजनीति में शामिल होकर मेरे लिए खेल के क्षेत्र में काफी कुछ कर पाना आसान होगा।
साइना ने खेलों से जुड़े रहने के बारे में कहा कि वह राजनीति और खेल दोनों में बनी रहेंगी। उनका सौभाग्य होगा अगर वह जनता के लिए कुछ कर पाती हैं। इसके अलावा साइना नेहवाल की माँ उषा रानी ने भी इस मामले पर बात की है। उनका कहना है ‘मैं बहुत खुश हूँ, साइना खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर रही थी और वह राजनीति में भी अच्छा ही करेगी। भाजपा देश के लिए अच्छा कर रही है, साइना पहले ही बहुत मेहनती है और वह इस क्षेत्र में भी अच्छा करेगी।

दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी
हालांकि इस साल के जुलाई महीने से ओलंपिक खेल भी शुरू होने हैं। उससे ठीक 6 महीने पहले साइना ने राजनीति में आने का फैसला लिया है। हरियाणा में जन्मी 29 वर्षीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल दुनिया में पहले पायदान पर रह चुकी हैं। इसके अलावा साइना को राजीव गांधी खेल रत्न और अर्जुन अवार्ड से भी नवाज़ा जा चुका है। साइना अब तक कुल 24 अंतर्राष्ट्रीय खिताब अपने नाम कर चुकी हैं और लंदन ओलंपिक में उन्होंने कांस्य पदक हासिल किया था। साल 2009 में वह दुनिया की दूसरी और साल 2015 में वह दुनिया की पहली नंबर की बैडमिंटन खिलाड़ी बनी थीं।

Next Post

जब सवाल पूछने का तरीक़ा गलत होगा तब सवाल की धार कमज़ोर ही होती है

Wed Jan 29 , 2020
विभव देव शुक्ला बीते दिन सोशल मीडिया पर एक वीडियो आया और चंद घंटों में वीडियो लाखों लोगों ने देख लिया। वीडियो में देश के दो जाने-पहचाने नाम थे, पहले मशहूर स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा और दूसरे समाचार प्रस्तोता अर्नब गोस्वामी। लोगों के लिए अब इस बात का अंदाज़ा […]