हरियाणा के खिलाड़ियों को पसंद आ रहा भाजपा का सियासी मैदान

चंडीगढ़

दुनिया भर में हरियाणा और देश का नाम ऊंचा करने वाले खिलाड़ी भाजपा की नीतियों से खासे प्रभावित हो रहे हैं। भगवा रंग में रंगे इन खिलाड़ियों को कमल का फूल पसंद आ रहा है और वे पार्टी के लिए स्टार प्रचारक के तौर पर काम करने में जुटे हैं। अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह, ओलंपिक पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त, पैरा ओलंपियन खिलाड़ी दीपा मलिक और दंगल गर्ल बबीता फोगाट के बाद अब बैडमिंटन गर्ल साइना नेहवाल भी भगवा रंग में रंग गई हैं। बस स्टार बॉक्सर बिजेंद्र सिंह को ही कांग्रेस का रिंग पसंद आया है।

साइना नेहवाल मूल रूप से हरियाणा के हिसार की रहने वाली हैं। वह यहां पांच साल तक रहीं, उसके बाद अपने पिता के साथ हैदराबाद चली गईं, लेकिन साइना की गिनती हरियाणा मूल के खिलाड़ियों में होती है। पिछली हुड्डा सरकार ने उस स्कूल का नाम साइना नेहवाल को समर्पित कर दिया था, जिसमें वह प्रारंभिक तौर पर पढ़ी-लिखीं। उनको पदक जीतने पर हरियाणा सरकार की ओर से नकद पुरस्कार भी दिया गया था।

हरियाणा की सरजमीं ने देश को कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी दिए हैं। इनमें से कुछ खिलाड़ी खुलकर भाजपा के साथ खड़े हो गए तो कुछ अप्रत्यक्ष रूप से कमल के फूल से लगाव रखते हुए भाजपा के लिए काम कर रहे हैं। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में पूर्व हाकी कप्तान संदीप सिंह भाजपा के टिकट पर पिहोवा से चुनाव लड़े तथा जीते। मनोहर सरकार में उन्हें खेल राज्य मंत्री बनाया गया। पैरा ओलंपियन दीपा मलिक भी टिकट की चाह में भाजपा में शामिल हुई थी। दंगल गर्ल बबीता फोगाट ने चुनाव से ठीक पहले भाजपा में एंट्री की। भाजपा ने उन्हें चरखी दादरी से टिकट भी दिया, लेकिन वे निर्दलीय सोमबीर सांगवान से पराजित हो गई।

कपिल देव पर भी मेहरबान रही हरियाणा सरकार

हरियाणा सरकार ने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव पर भी खासा भरोसा जताया है। कपिल देव हालांकि विधिवत रूप से भाजपा में शामिल नहीं हुए, लेकिन सरकार ने उन्हें सोनीपत जिले के राई के खेल विश्वविद्यालय का कुलाधिपति नियुक्त किया है। अमूमन किसी भी विश्वविद्यालय में कुलपति नियुक्त किए जाते हैं और कुलाधिपति राज्यपाल होता हैं।

अकेले विजेन्द्र सिंह ने थाम रखा कांग्रेस का दामन

हरियाणा के खिलाड़ियों का सियासत में आना कोई नई बात नहीं है। इससे पहले भी कई खिलाड़ी चुनाव का मैदान मार चुके हैं। हरियाणा से ताल्लुक रखने वाले अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर विजेन्द्र सिंह अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने कांग्रेस से नाता जोड़ा है। कांग्रेस ने विजेन्द्र सिंह को लोकसभा चुनाव में दिल्ली से चुनाव मैदान में उतारा था, लेकिन चुनाव हार गए थे।

Next Post

दोनों दोषियों को 20-20 साल की जेल, जुर्माना भी

Fri Jan 31 , 2020
नई दिल्ली दिल्ली का गुड़िया गैंग रेप गुड़िया सामूहिक दुष्कर्म मामले में कड़कड़डूमा कोर्ट ने गुरुवार को दोनों दोषियों मनोज और प्रदीप को 20-20 साल की जेल की सजा सुनाई। इसके साथ ही कोर्ट ने 11 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नरेश कुमार मल्होत्रा ने […]