सेना और आईटीबीपी के सेंटर में रहेंगे चीन से लौटे भारतीय

नई दिल्ली

चीन के वुहान शहर से देश लौटने वाले भारतीयों को अलग से सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के केंद्रों में रखा जाएगा। कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान में फंसे भारतीयों को भारत वापस लाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट से शुक्रवार को एक विमान वुहान पहुंचा। चीन से 366 भारतीय लाए जाएंगे, जिन्हें हरियाणा के मानेसर में सेना द्वारा तैयार एक केंद्र में रखा जाएगा। वहां कुछ दिनों तक उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा।

इससे पहले यात्रियों की हवाईअड्डे पर जांच की जाएगी और उसके बाद ही उन्हें मानेसर केंद्र में लाया जाएगा। अगर किसी के कोरोना वायरस से ग्रसित होने की आशंका होगी तो उसे दिल्ली कैंट स्थित अस्पताल में बने एक अलग वॉर्ड में शिफ्ट किया जाएगा। सीमा की पहरेदारी करने वाले बल आईटीबीपी ने भी कोरोना वायरस से प्रभावित संदिग्ध लोगों को बुनियादी चिकित्सा सेवा प्रदान करने के लिए दिल्ली में 600 बिस्तरों वाला पृथक केंद्र तैयार किया है। आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक कुमार पांडे ने बताया कि दक्षिण पश्चिम दिल्ली के छावला इलाके में आईटीबीपी कैंप में यह व्यवस्था शुरू की गई है।

कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर तैयार इस केंद्र में डॉक्टरों की एक टीम मौजूद रहेगी। पांडे ने बताया कि संक्रमण के संदिग्ध मरीज को लेकर पृथक केंद्र पर बच्चों और महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। यहां पर रखे जाने वाले लोगों को खाना, पानी और बुनियादी सुविधाएं मिलेंगी। करीब 90,000 कर्मियों वाला आईटीबीपी चीन के साथ लगी 3,488 किलोमीटर की वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की हिफाजत करता है। यह बल केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है।

इंदौर के एमवायएच पहुंचे 2 संदिग्ध मरीज जांच के लिए सैम्पल पुणे भेजा

इंदौर। कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मरीजों को इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों के सैम्पल जांच के लिए नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) पुणे भेजे गए हैं। हालांकि अभी तक वायरस की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन इसे लेकर अस्पताल में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। शुक्रवार शाम खरगोन के एक युवक (21) को यहां भर्ती किया गया। वह चीन के नीनचैंग से खरगोन आया था। इसी तरह दूसरी मरीज एक युवती (22) है जो वुहान से इंदौर आई है। दोनों ही वहां मेडिकल की पढ़ाई कर रहे थे। हाल ही में भोपाल व ग्वालियर भी संदिग्ध मरीज पहुंचे थे जिनकी अब तक रिपोर्ट नहीं आई है। एमवायएच अधीक्षक ने बताया कि दोनों संदिग्धों को सर्दी, खांसी, बुखार आदि नहीं है।

Next Post

निर्मला सीतारमण ने बजट के दौरान जो कविता पढ़ी उसने कभी कश्मीर में भी भरा था जोश

Sat Feb 1 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। माह-ए-फरवरी का पहला दिन, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट आज आ चुका है। सुबह 10 बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में पहुंची। उनके साथ वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी थे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज सदन में देश का आम जबट पेश […]