मैं टीम इंडिया का पाक आने का इंतजार कर रहा हूं : अफरीदी

लाहौर

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2008 से पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है। दोनों देशों ने राजनीतिक और कूटनीतिक संबंधों के कारण 2007 से पाकिस्तान के साथ कोई पूर्ण द्विपक्षीय सीरीज भी नहीं खेली है। पाकिस्तान ने आखिरी बार भारत का दौरा 2012 में किया था जिसमें दोनों के बीच सीमित ओवरों की सीरीज खेली गई थी। दोनों देशों के दरमियान कोई सीरीज नहीं होने के कारण पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी बेहद मायूस हैं। उनका कहना है कि वह भारतीय टीम का सीरीज खेलने के लिए पाकिस्तान आने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि पाकिस्तान ने श्रीलंका और बांग्लादेश की सफल मेजबानी कर साबित कर दिया है कि देश में सुरक्षा की स्थिति अच्छी है।

अफरीदी ने कहा, ‘पाकिस्तान में आयोजित होने वाला पूरा पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) 2020 सभी देशों के लिए एक अच्छा संदेश है। बांग्लादेश का यहां का दौरा करना और टेस्ट क्रिकेट खेलना भी दिखाता है कि हमारी सुरक्षा की स्थिति अच्छी है। मैं भारत के पाकिस्तान आने और सीरीज खेलने का इंतजार कर रहा हूं।’ बता दें कि द्विपक्षीय सीरीज से इतर भारत और पाकिस्तान की टीमें पिछले 8 सालों में कई आईसीसी टूर्नामेंटों में भिड़ चुकी हैं। दोनें टीमें की आखिरी बार टक्कर पिछले आईसीसी विश्व कप 2019 के राउंड-रॉबिन मैच में हुई थी। इस मुकाबले में विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने पाकिस्तान को धूल चटा दी थी।

एशिया कप कहीं भी हो, उसमें भारत-पाक दोनों को जरूर होना चाहिए

अफरीदी की ख्वाहिश है कि एशिया कप में भारत और पाकिस्तान दोनों खेलें। उनका कहना है कि एशिया कप कहीं भी हो लेकिन उसमें इन दोनों टीमों को जरूर होने चाहिए। अफरीदी ने कहा, ‘एशिया कप भारत और पाकिस्तान दोनों के साथ आयोजित किया जाना चाहिए। यह समय है किसी तीसरे देश को शामिल किए बिना पाकिस्तान और भारत एक साथ बैठें और अपनी समस्याओं को सुलझा लें। दोनों के बीच कई मुद्दे हैं और एक बार जब साथ बैठगें तो इन्हें हल किया जा सकता है। एशिया कप का आयोजन कहीं भी हो लेकिन भारत और पाकिस्तान को इमसे खेलना चाहिए।’

Next Post

बैंक डूबा तो भी 5 लाख तक रहेंगे सुरक्षित

Sun Feb 2 , 2020
नई दिल्ली बजट 2020 में बैंक में जमा राशि पर बढ़ी गारंटी पीएमसी बैंक घोटाले के सामने आने के बाद से बैंकों में ग्राहकों की जमा राशि के भविष्य को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इस बहस के बीच आम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम लोगों को […]