मोदी जिसे फॉलो करते हैं, वो बुरके में शाहीनबाग़ से पकड़ाई!

नई दिल्ली

गूंजा कपूर को जब महिलाओं ने पकड़ा तो वो बोली मुझे केजरीवाल ने भेजा। बाद में खुद को पत्रकार बताने लगी, महिला के कई बीजेपी नेताओ के साथ फोटो

दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में बुधवार दोपहर को प्रदर्शनकारियों ने बुर्का पहनकर पहुंची एक हिंदू महिला को पकड़ा और पुलिस के हवाले कर दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि महिला उनसे अजीबोगरीब सवाल कर रही थी और अपनी गलत पहचान बता रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर पर गुंजा कपूर को फॉलो करते हैं। वह अक्सर भाजपा के समर्थन में ट्वीट करती हैं और पार्टी के नेताओं के साथ फोटो भी हैं।

घटना के बाद चश्मदीदों ने बताया कि दोपहर एक बजे के करीब बुर्का पहनी एक महिला शाहीन बाग पहुंची और प्रदर्शनकारियों के बीच में बैठकर इस प्रदर्शन की आवश्यकता पर सवाल उठाने लगी। प्रदर्शनकारियों द्वारा महिला पर संदेह होने के बाद उन्हें पकड़ लिया गया। महिला ने कहा कि उन्हें केजरीवाल ने यहां भेजा है। सवाल-जवाब करने पर महिला अपने बयान बदलने लगी। महिला की तलाशी लेने पर उसके पास से एक खुफिया कैमरा बरामद हुआ। चश्मदीदों ने बताया, ‘मौके पर पहुंची पुलिस ने उनसे पूछताछ की। इस पर महिला ने खुद को एक पत्रकार बताया। जब प्रेस कार्ड मांगा गया तो उन्होंने अपना पहचान पत्र दिखाया, जिसमें उनका नाम गुंजा कपूर लिखा था जबकि पहले उन्होंने अपना नाम बरखा बताया था। इसके बारे में पूछने पर महिला ने सुरक्षा का हवाला देकर पहचान छिपाने और बुर्का पहनने की बात कही।

तीन-चार साथी भी थे जो फरार हो गए

मौके पर पहुंची महिला कांस्टेबल उसे ले जा रही थी तो महिला ने एक पुलिसकर्मी की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘विजय सर मुझे बचाइए। चश्मदीदों के मुताबिक, वहां महिला के तीन से चार साथी भी थे जो महिला के पकड़े जाने के बाद फरार हो गए। चश्मदीदों का कहना है कि महिला का संबंध आरएसएस या भाजपा से हो सकता है, जिसका मकसद इस प्रदर्शन को बदनाम करना था। पुलिस ने बताया कि महिला की पहचान गुंजा कपूर के तौर पर हुई है. उसने अपने ट्विटर हैंडल पर खुद का परिचय यू ट्यूब चैनल ‘राइट नेरेटिव” के संचालक के तौर पर किया है।

Next Post

कोरोना वायरस भी नहीं रोक पाया इस शादी को

Thu Feb 6 , 2020
विभव देव शुक्ला पूरी दुनिया चीन में फैले कोरोना वायरस से डरी हुई है। दुनिया भर के देशों में चीन से आने वाले लोगों को लेकर सावधानी बरती जा रही है, जिससे आम लोग इस वायरस की चपेट में न आ जाएँ। लेकिन इसके ठीक उलट पश्चिम बंगाल में कुछ […]