स्कूल में परेशान होकर 9 वर्षीय छात्रा ने बनाया एंटी बुलिंग एप

शिलांग

मेघालय के शिक्षा मंत्री ने की तारीफ, गूगल प्ले स्टोर पर जल्द मौजूद होगा एप

स्कूल में बार-बार धमकियों से परेशान होकर शिलांग की रहने वाली नौ वर्षीय लड़की ने एक मोबाइल एप्लिकेशन बनाया है। इस एप की मदद से ऐसी घटनाओं की जानकारी सीधे अधिकारियों तक पहुंचेगी। कक्षा चार की छात्रा मेईदाइबाहुन माजॉ का कहना है कि स्कूल में नर्सरी से ही उसे धमकियां मिल रही थीं। इससे उसे परेशानी होती थी, इसलिए उसने खुद इसका रास्ता निकाला। उसने कहा कि मैं नहीं चाहती थी कि कोई और बच्चा इस तरह की घटनाओं का सामना करे।

बहरहाल, ये एप जल्द ही गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध होगा। साथ ही ये एप पीड़ितों को पहचान ना उजागर करने का ऑप्शन भी देगा। छात्रा ने आगे बताया कि उपयोगकर्ता धमकी देने वालों के नाम सहित घटनाओं का विवरण प्रदान कर सकते हैं, और संबंधित व्यक्तियों को संदेश भेज सकते हैं।

मेईदाइबाहुन माजॉ के प्रयासों की मेघालय के शिक्षा मंत्री लक्ष्मण रिंबुई ने तारीफ की है। उन्होंने कहा कि मेई बड़ी होकर एक जिम्मेदार नागरिक बनेगी। उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि वह सामाजिक प्रयासों से लड़ने के लिए अपने प्रयास में सर्वश्रेष्ठ हो। वह एक जिम्मेदार नागरिक होगी।

मैं उसके माता-पिता को उसे मार्गदर्शन देने के लिए भी बधाई देता हूं। बता दें कि द टीचर फाउंडेशन द्वारा एसोसिएशन विप्रो अप्लाइंग थॉट्स इन स्कूल्स (वाटिस) में आयोजित 2017 सर्वेक्षण में पाया गया है कि भारत में 42 प्रतिशत बच्चों को स्कूलों में तंग किया जाता है।

सहपाठियों ने कर दिया था छात्रा का बहिष्कार

अपने अनुभवों को याद करते हुए, मेई ने कहा कि छात्रों के एक समूह ने तो एक बार उसके खिलाफ गैंग बना लिया था और अन्य सहपाठियों को उसका बहिष्कार करने के लिए कहा था। उनमें से एक ने मेरे पैरों पर मुहर लगा दी थी। उसके कुछ दोस्तों ने भी इस तरह की घटनाओं का सामना किया था। मेई की मां दासुमलिन माजॉ ने कहा कि बेटी ने पिछले साल सितंबर में एक एप-डेवलपमेंट कोर्स में दाखिला लिया था और कुछ महीनों के भीतर यह सीख लिया। मेई हर दिन एक घंटा क्लास में बिताती थी। उसने अब तक 40 एप डेवलप किए हैं।

Next Post

मध्य प्रदेश में डीजीपी की लड़ाई अब सोशल मीडिया पर

Mon Feb 10 , 2020
प्रजातंत्र ब्यूरो | भोपाल डीजीपी पद के लिए आधा दर्जन अफसर कर रहे लॉबिंग, डीजी रैंक के अफसर ने सोशल मीडिया पर खोला मोर्चा संभवतया मध्य प्रदेश के इतिहास में पहली बार पुलिस महानिदेशक के पद तक पहुंचने की लड़ाई अब खासो-आम तक पहुंच गई है। मौजूदा डीजीपी वीके सिंह […]