शरजील की ‘साथी’ ने कहा, कोई पछतावा नहीं

मुंबई

आज़ाद मैदान में एलजीबीटी प्राइड परेड के दौरान देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम के समर्थन में नारे लगाने वाली राजद्रोह की आरोपी उर्वशी चूड़ावाला आख़िरकार बुधवार को मुंबई पुलिस के सामने पेश हुई। उर्वशी चूड़ावाला को बॉम्बे हाईकोर्ट से अंतरिम राहत मिली है। अदालत ने फौरी तौर पर उसकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई है, लेकिन उर्वशी के सामने कई शर्तें भी रखी है। एफआईआर दर्ज होने के बाद से उर्वशी फरार थी। बुधवार को पहली बार वह मीडिया और पुलिस के सामने आई।

इस दौरान पुलिस ने उर्वशी को नारे किसने दिए, किसने सिखाए और मकसद क्या था, आदि सवाल पूछे। उर्वशी ने पुलिस को कहा की उसे प्रदर्शन करने का कोई पछतावा नहीं है, पर उसके प्रदर्शन का मकसद ऐसा नहीं था। पुलिस ने उर्वशी के मोबाइल से डेटा रिकवर करने की भी कोशिश की।

यह है मामला

मुंबई में हर साल एलजीबीटी समुदाय समलैंगिकों के अधिकारों को लेकर क्वीर आजादी मार्च निकालता है। हमसफर ट्रस्ट की ओर से यह मार्च मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में निकाला जाता है लेकिन इस बार पुलिस ने आजाद मैदान में मार्च निकालने की अनुमति दी। पुलिस ने सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दे पर नारेबाजी नहीं करने की हिदायत देकर मार्च की अनुमति दी थी। लेकिन मोर्चे में जमकर शरजील के समर्थन में नारे लगे थे।

Next Post

उत्तराखंड में भूकंप से मच सकती है बड़ी तबाही

Thu Feb 13 , 2020
नैनीताल 21 फरवरी को वैज्ञानिकों की एक टीम पहुंचेगी जांच करने उत्तराखंड का इतिहास बताता है कि यहां के भविष्‍य को भी भूकंप के कारण बड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता है। यह कहना है आईआईटी के विशेषज्ञों की टीम का। मंगलवार को आईआईटी कानपुर से पहुंची वैज्ञानिकों की टीम ने […]