80 साल से बिना कुछ खाए-पिए जिंदा हैं 90 साल के प्रह्लाद जानी

अहमदाबाद

बिना कुछ खाए-पीए एक दिन गुजारना मुश्किल होता है लेकिन एक शख्स ऐसा है जो 80 साल से बिना कुछ खाए-पिए जिंदा है। शायद सुनने और पढ़ने के बाद विश्वास न हो लेकिन यह सच है। गुजरात के प्रह्लाद जानी का कुछ ऐसा ही दावा है। 90 साल के प्रह्लाद जानी कहते हैं कि उन्होंने 80 साल से न तो कुछ खाया है और नहीं कुछ पिया है। यहां तक कि उन्होंने अपनी दैनिक क्रियाएं (टॉयलेट) भी योग के दम पर रोक रखी हैं। और इन सबके बाद भी वे पूरी तरह से स्वस्थ, निरोगी और जीवित हैं।

गुजरात के मेहसाणा के रहने वाले प्रह्लाद जानी उर्फ माताजी चुनरीवाले विज्ञान के लिए चुनौती बने हुए हैं। प्रहलाद जानी का कहना है कि जब वो 10 साल के थे तब उन्होंने अध्यात्मिक जीवन के लिए अपना घर छोड़ दिया था। एक साल तक वह माता अंबे की भक्ति में डूबे रहे, जिसके बाद उन पर माता की कृपा हुई और तब से न तो उन्हें भूख लगती है और न ही प्यास। इतना ही नहीं माता की भक्ति में लीन रहते-रहते अब खुद वो भी साड़ी, सिंदूर और नाक में नथ पहनने लगे हैं। और महिलाओं की तरह ही पूरा श्रृंगार करते हैं। जानकारी के मुताबिक प्रह्लाद जानी पिछले 50 साल से गुजरात के अहमदाबाद से 180 किलोमीटर दूर पहाड़ी पर अंबाजी मंदिर की गुफा के पास रहते हैं।

गंभीर बीमारियों के इलाज का दावा

प्रह्लाद जानी का दावा है कि वे इसी तरह से एक हजार साल तक जीवित रहेंगे। इसके साथ ही वो एड्स, डायबिटिज जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज करने का भी दावा करते हैं। इतना ही नहीं वो निसंतान लोगों को महज एक फल देकर उनका इलाज करते हैं। उनके भक्तों का कहना है कि उन्होंने सैकड़ों लोगों का इलाज किया है।

वैज्ञानिक भी हैरान

प्रह्लाद जानी के दावों ने वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को भी अचरज में डाल रखा है। देश की जानी-मानी संस्था डीआरडीओ के वैज्ञानिकों की टीम तो कभी बड़े-बड़े डॉक्टरों के पैनल ने सीसीटीवी कैमरे की नजर में प्रह्लाद जानी को 15 दिन से लेकर एक महीने तक 24 घंटे रखा। जहां उनके एक-एक सेकंड का वीडियो लिया गया। इस दौरान उन्होंने न तो कुछ खाया, न पिया और न ही शौचालय गए। जिसके बाद से डॉक्टर से लेकर वैज्ञानिक तक सब हैरान थे कि बिना खाए-पिए और टॉयलेट गए कोई इंसान इतने सालों तक कैसे जीवित रह सकता है। जिसके बाद उनके शरीर की अंदर की क्रियाओं के जानने के लिए डॉक्टरों ने उनके कई टेस्ट भी किए। जिसमें ये सामने आया कि प्रह्लाद जानी के ब्लैडर में यूरिन बनता तो है, लेकिन कहां गायब हो जाता है इसका पता करने में विज्ञान भी अभी तक विफल ही रहा है।

Next Post

इंदौर में मिले बांग्लादेशी जालसाज,फर्जी मार्कशीट से पासपोर्ट-आधार बनवाए।

Fri Feb 14 , 2020
इंदौर (नगर संवाददाता)। देह व्यापार व नकली नोट को बनाया कमाई का जरिया, सुरक्षा एजेंसियों की खुली पोल स्कूलकर्मी अनिल पिता राममनोहर पाल निवासी गौरीनगर के अपहरण मामले में पकड़े गए आरोपियों में से तीन बांग्लादेशी निकले हैं। इनसे पूछताछ कर रही पुलिस ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। गिरोह […]