सुरक्षा से लैस रहेगी काशी-महाकाल एक्सप्रेस, 2 रुपए प्रति किमी रहेगा किराया

विनोद शर्मा | इंदौर

महाशिवरात्रि से शुरू होने जा रही काशी-महाकाल एक्सप्रेस में यात्रा करने वाले यात्रियों को आईआरसीटीसी 10 लाख रुपए का रेल ट्रेवल बीमा देगा। इंदौर से वाराणसी के बीच का न्यूनतम किराया करीब 2250 रुपए होगा। इसमें 300 रुपए का कैटरिंग चार्ज भी शामिल है, जो देकर आप मनपसंद खाना खा सकेंगे। ट्रेन 14 घंटे में अपना सफर तय करेगी।

काशी-महाकाल एक्सप्रेस को लेकर आईआरसीटीसी की तैयारियां पूरी हैं। यह दूसरी ट्रेनों से अलग है। इसमें यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि रखी गई है। इसीलिए दोनों गेट के पास चार और गैलेरी में दो सीसीटीवी कैमरे होंगे, जिनसे आने-जाने वालों पर नजर रहेगी। बोगी में ही अटेंडेंट के पास लाइव मॉनिटर होगा। 5 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती भी रहेगी। इसी कड़ी में रेल ट्रेवल बीमा को बढ़ाकर 10 लाख रुपए/यात्री कर दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार काशी-महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन का न्यूनतम किराया करीब 2 रुपए/किलोमीटर होगा। किराया डायनामिक होगा, जो व्यस्त सीजन में बढ़ाया जा सकेगा। लखनऊ होते हुए वाराणसी तक ट्रेन (82403 और 82402) 18.55 घंटे में 1131 किलोमीटर का सफर तय करेगी। वहीं इलाहाबाद होते हुए ट्रेन (82401 और 82404) 18.25 घंटे में 1102 किलोमीटर का सफर तय करेगी।

ट्रेन निरस्त तो टीडीआर नहीं भरना पड़ेगा

आईआरसीटी के अनुसार यात्री 120 दिन पहले एडवांस रिजर्वेशन करवा सकेंगे। 4 घंटे पहले पहला चार्ट बनने से लेकर ट्रेन छूटने के पांच मिनट पहले तक मिलेंगे टिकट। ट्रेन निरस्त होने पर यात्रियों को अपना टीडीआर भरने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उनका रिफंड खुद ही खाते में आ जाएगा।

• रेलवे रिजर्वेशन काउंटर पर टिकट की बुकिंग नहीं होगी। ट्रेन में तत्काल रिजर्वेशन नहीं होगा।
• सेना के जवान व केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल के जवान सीजीडीए, सीआरपीएफ, एनडीआरएफ व एनएसजी के पोर्टल पर भी ई-टिकट बुक करा सकेंगे।

यह भी होंगे खास

सीनियर सिटीजन सहित अन्य को किसी तरह की कोई रियायत नहीं मिलेगी। आईआरसीटीसी व्हील चेयर, होटल बुकिंग और टैक्सी किराए की सुविधा जरूर देगा।

Next Post

चाकू से हमले में गंभीर घायल दुधमुंही बच्ची ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ा

Sat Feb 15 , 2020
नगर संवाददाता | इंदौर एक रात पहले ही अस्पताल से नवजात को घर ले गए थे दंपति जन्म के बाद ही चाकू के हमले से घायल एक दिन की दुधमुंही बच्ची ने आखिरकार एमवाय अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। उस पर किसने, क्यों, कैसे और कहां हमला […]