मिर्ची बड़ा नहीं खाया तो समझो जोधपुर देखा ही नहीं

हेमलता दुबे

राजस्थान में क्यों पसंद किया जाता है मिर्ची बड़ा? जवाब है जोधपुर का मिर्ची बड़ा स्वाद के कारण सबसे प्रसिद्ध है, साथ ही अन्य जिलों के भी, क्योंकि यहां का पानी इसे बेहतर स्वाद देता है। यदि आप किसी कारणवश या जोधपुर घूमने आए हैं और अगर मिर्ची बड़ा नहीं खाया तो समझो जोधपुर देखा ही नहीं।

जोधपुर का मिर्ची बड़ा फेमस है। स्वाभाविक है इसकी खपत भी ज्यादा होगी। हाल ही इसकी खपत को लेकर हुए अध्ययन में सामने आया कि जोधपुरवासी रोज एक लाख तक मिर्ची बड़ा खा जाते हैं। जोधपुर शहर में मिर्ची बड़े की एक हजार से अधिक दुकानें हैं। इनमें से पचास-साठ दुकानें परम्परागत हैं। इन दुकानों का इतिहास भी पच्चीस-तीस साल पुराना है। चूंकि यह विश्व प्रसिद्ध हो चुका है, इसलिए हर गली-नुक्कड़ पर मिर्ची बड़े की दुकानें खुली हुई हैं। राजस्थान में क्यों पसंद किया जाता है मिर्ची बड़ा? जवाब है जोधपुर का मिर्ची बड़ा स्वाद के कारण सबसे प्रसिद्ध है, साथ ही अन्य जिलों के भी, क्योंकि यहां का पानी इसे बेहतर स्वाद देता है। यदि आप किसी कारणवश या जोधपुर घूमने आए हैं और अगर मिर्ची बड़ा नहीं खाया तो समझो जोधपुर देखा ही नहीं।

राजस्थान के कई हिस्सों में तापमान मई-जून के महीने में पचास डिग्री तक पहुंच जाता है। तापमान और तीखे का चोली दामन का साथ होता है। आम तौर पर गरम आबोहवा वाले देशों में लोगों का खान-पान तीखा और मिर्च-मसालेदार होता है। इसकी वजह ये होती है कि मिर्च-मसालों में बीमारियों से लड़ने की ताक़त होती है। राजस्थान की गरम आबोहवा इसे राजस्थानी लोगों के लिए विशेष बनाती है। हाल ही में सर्वे से पता चला है कि जैसे-जैसे धरती का तापमान बढ़ रहा है, दुनिया के कई हिस्सों में लोग तीखा और मसालेदार खाना पसंद करने लगे हैं। पहले इन देशों के लोगों को तीखा खाना पसंद नहीं था। इसके अलावा गरम तापमान वाली जगहों पर तेज मिर्च-मसालों की मदद से खाने को देर तक ख़राब होने से बचाया जा सकता है। तीखा और चटपटा पसंद करने वाले लोगों के लिए यह सबसे खास डिश है। मिर्ची बड़े की बड़ी खासियत इसका जायकेदार होना है।

इसमें जोधपुरी मसालों के साथ ही मथानियां की मिर्ची का प्रयोग किया जाता है। इसको बनाने से पहले उबले आलू के साथ जोधपुरी मसालों का प्रयोग किया जाता है। इसके अन्दर हरी मिर्ची डाली जाती है। इसके बाद इसे बेसन के घोल में डुबोकर फ्राय किया जाता है।

कुछ समय में मिर्ची बड़ा व्यापार बनकर उभरा है। इसके अलावा बारिश के दिनों की बात की जाए तो इसकी खपत और भी बढ़ जाती है। सुहाने मौसम में गरमागरम मिर्ची बड़ा अलग ही स्वाद देता है। यही कारण है कि खुशनुमा मौसम में यहां मिर्ची बड़े की दुकानों पर भीड़ उमड़ पड़ती है। मिर्ची बड़ा राजस्थान का बहुत ही फेमस स्ट्रीट फ़ूड है, जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट और स्पेशल डिश है और राजस्थान के जोधपुर शहर का मिर्ची बड़ा बहुत ही ज्यादा पॉपुलर है, इसलिए मिर्ची बड़ा को जोधपुरी मिर्ची बड़ा भी कहा जाता है। यह वड़ा चाय और कॉफ़ी के साथ खाने काफी अच्छा लगता है।

आम तौर पर गरम आबोहवा वाले देशों में लोगों का खान-पान तीखा और मिर्च-मसालेदार होता है। इसकी वजह ये होती है कि मिर्च-मसालों में बीमारियों से लड़ने की ताक़त होती है। राजस्थान की गरम आबोहवा इसे राजस्थानी लोगों के लिए विशेष बनाती है।

Next Post

‘फिल्म-स्टार बनने के लिए गायकी जरूरी थी’

Sun Feb 16 , 2020
सैयद एम. तौहीद किसी ने नहीं सोचा होगा कि वकालत की डिग्री रखने वाले सुरेंद्रनाथ उर्फ सुरेंद्र हिंदी सिनेमा के बड़े स्टार बनेंगे, लेकिन ऊपर वाला उनमें अलग मिजाज देख रहा था। अभिनय और गायकी के दम पर फिल्मों में चले आए। तीस दशक के उत्तरार्ध की फिल्म ‘दक्कन की […]