शपथ ग्रहण में मोदी के न आने पर क्या कहा केजरीवाल ने

विभव देव शुक्ला

दिल्ली का विधानसभा चुनाव जीतने के बाद आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने बतौर मुख्यमंत्री शपथ ली। शपथ के दौरान उनका भाषण भी हुआ, चूंकि यह दिल्ली विधानसभा चुनाव कई मायनों में अलग था। लिहाज़ा आम जनता की निगाहें आज के भाषण पर भी बराबर टिकी हुई थीं। ऐसा ही कुछ हुआ भी, अरविंद केजरीवाल ने भाषण के दौरान तमाम ऐसी बातें कहीं जिन पर किसी का भी ध्यान जाना बेहद लाज़मी था। इसमें सबसे दिलचस्प था केजरीवाल का प्रधानमंत्री को निमंत्रण।

शुभकामनाओं की उम्मीद
केजरीवाल ने कहा मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्यौता दिया था लेकिन वह नहीं आ पाए। हो सकता है कि वह कहीं व्यस्त रहे हों लेकिन इस मंच के ज़रिये मैं उनकी शुभकामनाएँ और आशीर्वाद चाहता हूँ जिससे मैं दिल्ली का विकास अच्छे से कर सकूँ। आखिरकार दिल्ली को आगे ले जाने के लिए मुझे इसकी ज़रूरत होगी।
इसके बाद केजरीवाल ने कहा बहुत से लोग कह रहे हैं कि हमने सब कुछ मुफ्त कर दिया है। प्रकृति ने दुनिया में बहुत सी बेशकीमती चीज़ों को हमारे लिए मुफ्त किया है, चाहे माँ का प्यार हो, पिता का आशीर्वाद हो या श्रवण कुमार का त्याग हो। ठीक वैसे ही मैं भी अपने लोगों से प्यार करता हूँ और उनके लिए कुछ चीज़ें मुफ्त हैं।

भाजपा और कांग्रेस सभी का मुख्यमंत्री
इसके बाद केजरीवाल ने कहा चुनाव में किसी ने आम आदमी पार्टी के लिए वोट किया, किसी ने भाजपा के लिए तो किसी ने कांग्रेस के लिए। लेकिन आज जब मैं बतौर मुख्यमंत्री शपथ ले रहा हूँ तब यह कहना चाहता हूँ कि मैं सभी का मुख्यमंत्री हूँ। मैं आम आदमी पार्टी का मुख्यमंत्री हूँ, मैं भाजपा का मुख्यमंत्री हूँ, मैं कांग्रेस का मुख्यमंत्री हूँ और बाकी दलों का भी मुख्यमंत्री हूँ। किसी दल से जुड़े होने का असर मेरे काम पर कभी नहीं पड़ा।

Next Post

क्यों दिल्ली सरकार के दो मंत्रियों का शपथ बनी हुई है सुर्खियों की वजह

Sun Feb 16 , 2020
विभव देव शुक्ला आज अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। केजरीवाल के साथ कई विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली लेकिन शपथ के दौरान काफी कुछ ऐसा हुआ जो अलग था। सबसे बड़ी और हैरानी वाली बात तो यही है कि […]