भारत आने से पहले ट्रम्प ने किसी बड़े समझौते को लेकर क्या कहा

विभव देव शुक्ला

पिछले कई दिनों से हमारे देश में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की चर्चा ज़ोरों पर है। आम तौर पर हमारे आस-पास ट्रम्प की चर्चा बहुत सामान्य बात होती लेकिन इस बार वजह अलग है। बीते कई सालों से ट्रम्प के भारत आने के कयास लगाए जा रहे थे और अब ऐसा होने वाला है। 24 फरवरी को ट्रम्प दो दिवसीय भारत दौरे पर आएंगे लेकिन दौरे से पहले ट्रम्प ने कुछ बातें कहीं हैं जो फिलहाल सुर्खियों में है।

आने वाले समय में भारत से डील
ट्रम्प ने अपनी बात में ऐसे संकेत दिए हैं जिसके मुताबिक भारत और अमेरिका के बीच व्यापार से जुड़ा बड़ा समझौता हो सकता है। ट्रम्प ने कहा हम भारत के साथ एक बड़ा व्यापार समझौता कर सकते हैं लेकिन हम इस समझौते को बाद के लिए बचा कर रख रहे हैं। शायद चुनावों से पहले, हम भारत के साथ एक बड़ा व्यापारिक समझौता करेंगे।
ट्रम्प 24 फरवरी को दिन में गुजरात के अहमदाबाद एयरपोर्ट पर उतरेंगे। इसके बाद मोटेरा स्टेडियम में लगभग 1 लाख लोगों को संबोधित करेंगे। यह पिछले साल हॉस्टन में सितंबर महीने के हुए हाउडी मोदी इवेंट से मिलता जुलता होगा। इसके अलावा ट्रम्प का कहना है कि अहमदाबाद हवाई अड्डे और स्टेडियम के बीच उनका स्वागत करने के लिए लगभग 70 लाख लोग मौजूद होंगे।

तय शेड्यूल में गांधी आश्रम भी शामिल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ज़िक्र करते हुए ट्रम्प ने कहा बतौर नेता मैं उनका प्रशंसक हूँ। उन्होंने मुझे खुद बताया कि हवाई अड्डे से स्टेडियम के बीच लगभग 70 लाख लोग मौजूद होंगे। इतना होने के बाद यह दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में शामिल होगा। मैं इस पूरे दौरे के लिए बहुत उत्साहित हूँ। मुझे उम्मीद है कि इस दौरे से भारत और अमेरिका के बीच रिश्ते को और मज़बूती मिलेगी।
ट्रम्प साबरमती स्थित गांधी आश्रम भी जा सकते हैं और दिन के अंत में वह राजधानी दिल्ली आएंगे जहाँ व्यापार से जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। वहीं मंगलवार के दिन राष्ट्रपति भवन में प्रोटोकॉल के तहत उनके स्वागत समारोह की तैयारी होगी। अगर ट्रम्प किसी कारण के चलते साबरमती स्थित गांधी आश्रम का दौरा नहीं कर पाते हैं तब दिल्ली स्थित गांधी आश्रम का दौरा करेंगे।

समूहों से जुड़े लोगों की बैठक
प्रधानमंत्री मोदी और ट्रम्प हैदराबाद हाउस में बैठक के दौरान अहम मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इसके अलावा मंगलवार को ट्रम्प भारत के व्यावसायिक समूहों से जुड़े लोगों से मुलाक़ात करेंगे। यह बैठक दिल्ली के अमेरिकी दूतावास में होगी। इसमें इंडियन ऑयल, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा संस, भारत फ़ोर्ज और महिंद्रा जैसे बड़े समूह शामिल हैं।

Next Post

जब मोदी ने कलाकारों और शिल्पकारों के बीच घंटी से म्यूज़िक देने की कोशिश की

Wed Feb 19 , 2020
विभव देव शुक्ला देश में फिलहाल काफी मुद्दों पर चर्चा जारी है, इसमें ज़्यादातर मुद्दे ऐसे हैं जिनके बारे में लोग पहले से ही जानते हैं। ऐसे मुद्दे जिन पर सब कुछ पहले से ही तय है लिहाज़ा लोग उनके बारे में पहले से ही जानते हैं। लेकिन कुछ मुद्दे […]