इंदौर की ‘ट्रैफिक दादी’ ने कई फिल्मों में भी काम किया था

नगर संवाददाता | इंदौर

खाकी वर्दी पहनकर सड़कों पर गलती करने वालों को डांट देती थी

शहर के चौराहों पर खाकी वर्दी पहनकर सीटी बजाकर लंबे समय तक ट्रैफिक कंट्रोल करने वाली निर्मला पाठक का 90 वर्ष की उम्र में शनिवार को निधन हो गया। पाठक लंबे समय से बीमार थीं। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें साइकिलवाली बाई नाम दिया था जबकि अभिनेता शाहरूख खान ने इंदौर की दादी कहा था। उन्होंने थिएटर में काम करने के साथ कई मराठी फिल्मों में भी काम किया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी ट्वीट करके उन्हें श्रृद्धांजलि दी।

लवकुश आवास विहार स्थित निवास पर पाठक ने शनिवार सुबह अंतिम सांस ली। नवंबर 2018 में पाठक बाथरूम में फिसलकर ऐसे गिरीं की फिर खड़ी नहीं हो पाईं। बिस्तर पर पड़ने के बाद पाठक की छोटी बहन उषा ने उनकी काफी देखभाल की। उषा ने बताया कि यातायात संभालने के कारण उन्हें 200 से ज्यादा बार पुरस्कृत किया गया।

वृद्धाश्रम में रहते सर्जरी कराई थी पुलिस अफसरों ने | 30 साल से ज्यादा समय तक ट्रैफिक संभाला ने वाली निर्मला को 200 से ज्यादा बार सम्मानित किया जा चुका है। लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों के चलते जब वे वृद्धाश्रम में रहती थीं, तब उनके पेट में अल्सर की सर्जरी कराने के लिए तत्कालीन डीआईजी स्वराजपुरी ने उसका खर्च उठाया था।

दरवाजा तोड़कर निकाला | बहन उषा ने बताया कि नवंबर 2018 में वे बाथरूम में फिसल गई। बेटे ने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया, जब नहीं खोला तो गेट तोड़ना पड़ा। वे भीतर ही बेहोश पड़ी थीं। इसके बाद उन्हें अस्पताल लेकर जाया गया। लेकिन वे फिर बिस्तर से उठ नहीं पाईं। उनका एक हाथ और पैर में पैरालाइज्ड हो गया।

90 की उम्र में भी काम की ललक थी

मूल रूप से मुंबई की रहने वाली निर्मला ने कई साल पहले इंदौर आकर ट्रैफिक सुधार में सक्रिय सहयोग शुरू किया था। लगभग 90 की उम्र में भी उनकी यही कोशिश रहती थी कि वे घर में न बैठें। पुलिस अधिकारियों का भी उसने काफी जुड़ाव रहा है। वे भी समय-समय पर उनसे मिलने पहुंचते थे।

Next Post

रामचंद्रन ने कहा, हम बात करने आए हैं धरना खत्म कराने नहीं

Sun Feb 23 , 2020
नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त की गई वार्ताकार साधना रामचंद्रन की चौथे दौर की बातचीत भी रही बेकार, मार्केट एसोसिएशन ने कहा हो रहा करोंड़ों का घाटा सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त की गई वार्ताकार साधना रामचंद्रन शनिवार को भी शाहीन बाग पहुंची। ये चौथे दौर की बातचीत थी हालांकि […]