भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं का उपद्रव और आगजनी

गोपालगंज

प्रमोशन में आरक्षण को लेकर भीम आर्मी चीफ का भारत बंद का ऐलान, कई दुकानें जबरन कराई बंद

भीम आर्मी के भारत बंद के दौरान बिहार के गोपालगंज में उपद्रव देखने को मिला। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने बंद के नाम पर जगह-जगह जहां जमकर उत्पात मचाया, वहीं एनएच 28 को जाम कर घंटों आगजनी की। भारत बंद के दौरान शहर के कई दुकानों को जबरन बंद कराए गए। जब नगर थाना के बंजारी चौक स्थित एक मोबाइल दुकानदार ने दुकान बंद करने से इंकार कर दिया तो आक्रोशित भीम आर्मी के सदस्यों ने दुकान का पोस्टर फाड़ दिया। पोस्टर फाड़ने को लेकर दुकानदारों और बंद समर्थकों में झड़प भी हुई। इसके बाद इलाके में तनाव फैल गया।

मौके पर भारी संख्या में पुलिस जवानों और मजिस्ट्रेट को तैनात किया गया, लेकिन पुलिस जवानों की मौजूदगी में ही दोनों पक्षों में जमकर पथराव शुरू हो गया। हालांकि, इस पथराव में किसी को चोट आने की सूचना नहीं आई। शहर का बंजारी चौक कई घंटे से रणक्षेत्र में तब्दील हो गया।

माहौल को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठियां भी भांजनी पड़ी। बंजारी चौक स्थित ओम साईं मोबाइल सेंटर के संचालक विक्की कुमार शर्मा ने बताया की वो दुकान खोलकर ग्राहक को सामान की बिक्री कर रहे थे, तभी हाथों में लाठी-डंडे लेकर कुछ लोग जबरन दुकान बंद कराने लगे। जब उन्होंने थोड़ी देर बाद दुकान बंद करने की बात की तो भीम आर्मी के सदस्यों ने उनके दुकान का पोस्टर फाड़ दिया। इसी पोस्टर के फाड़ने को लेकर विवाद शुरू हुआ और अब पूरा बंजारी चौक का इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया।

भीम आर्मी का प्रमुख गायब

भीम आर्मी का प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने लोगों को प्रदर्शन के लिए बुलाया था अब वह खुद ही गायब हो गया है। अब पुलिस समेत सबकी नजर चंद्रशेखर को तलाश रही है। बता दें कि भारत बंद का ऐलान चंद्रशेखर आजाद ने ही किया था। इसके बाद शनिवार रात सबसे पहले जाफराबाद सड़क बंद होने की बात आई। इसके बाद दोपहर में महिलाएं चांद बाग वाली सड़क पर भी बैठ गईं और उसे भी जाम कर दिया।

लोगों को भड़काने की यह चंद्रशेखर की नीति पुरानी

लोगों को भड़काने की यह चंद्रशेखर की नीति पुरानी है। पिछले महीने चंद्रशेखर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में हिस्सा लेने दिल्ली के जामा मस्जिद पहुंचे थे। वहां उस दिन हिंसा हुई थी, जिसमें चंद्रशेखर का भी रोल सामने आया था। गिरफ्त से चंद्रशेखर को इसी शर्त पर छोड़ा गया था कि वह दिल्ली नहीं लौटेंगे। अब ट्वीट के जरिए लोगों को भड़काने का पैंतरा अपनाया।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश पलटने की मांग

भीम आर्मी चीफ का कहना है कि केंद्र की बीजेपी सरकार आरक्षण छीनने की कोशिश कर रही है। अगर सरकार ने अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के आरक्षण पर दिए फैसले को नहीं पलटा तो उसी तरह का प्रदर्शन होगा जैसे एससी-एसटी एक्ट को लेकर पूर्व में आए फैसले के खिलाफ पहले हो चुका है।

Next Post

क्रिस्टियानो रोनाल्डो 1000 मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी

Mon Feb 24 , 2020
मिलान इटली की फुटबॉल लीग सीरी-ए में शनिवार देर रात जुवेंटस ने एसपीएएल टीम को 2-1 से हरा दिया। इसी के साथ क्रिस्टियानो रोनाल्डो 1000 मैच खेलने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इस मैच में उन्होंने जुवेंटस के लिए 39वें मिनट में पहला गोल किया था। इसी […]