स्टूडेंट्स को ‘आल द बेस्ट’ कह कर फूल बांट रही दिल्ली पुलिस

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। दंगे को किसी भी सूरत में अच्छा नहीं माना जा सकता लेकिन हर दंगे की अपनी एक मिसाल रही है। कुछ प्यार बाँटने वाले लोग नफ़रत की आग से लोगों को बचाते रहे हैं। उत्तर पूर्वी दिल्ली का खजूरी खास इलाका जो कुछ दिन पहले दंगों में झुलस रहा था यहाँ अब फूल बांटे जा रहे हैं।

दरअसल दिल्ली पुलिस के जवानों ने सर्वोदय बाल विद्यालय में सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा देने आए छात्रों को फूल भेंट किए। पिछले हफ्ते इसी इलाके में हिंसा भड़क गई थी।

दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में आज से दोबारा सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। राजधानी के उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पिछले सप्ताह हुई सांप्रदायिक हिंसा के चलते 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई थी। परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार राजधानी में आज 12वीं के छात्र फिजिक्स की परीक्षा देंगे। वहीं 10वीं के छात्र म्यूजिक की परीक्षा देने एग्जाम सेंटरों पर पहुंचेंगे।

सीबीएससी ने दिल्ली हाईकोर्ट में इसके लिए हलफनामा दायर किया था। जिसके बाद कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और राज्य सरकार को छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और इन क्षेत्रों में परीक्षा का आयोजन करने के लिए कहा था। इसके साथ ही निर्देश दिया गया था कि परीक्षा को सरल तरीके से कराने के लिए सभी तरह की सहायता दी जाए।

इस दौरान एसएचओ और एसीपी अशोक कुमार ने सर्वोदय विद्यालय खजूरी खास में बोर्ड का एग्जाम देने आए स्टूडेंट्स का वेलकम गुलाब का फूल देकर किया और स्टूडेंट्स को पेपर के लिए ‘All The Best’ कहा।

इससे पहले केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने रविवार को कहा था कि 15 फरवरी से 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाएं पूरे देश में आयोजित की जा रही हैं। दिल्ली के उत्तर-पूर्वी जिले में हिंसा भड़कने से बोर्ड ने 26, 27, 28 व 29 फरवरी का एग्जाम टाल दिया था। इन छात्रों के छूटे पेपरों के लिए नई तिथियां जल्द घोषित कर दी जाएंगी।

त्रिपाठी ने कहा कि हिंसा प्रभावित क्षेत्र में बोर्ड परीक्षाएं कराने में और देरी से मेडिकल और इंजीनियरिंग जैसे पेशेवर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए छात्रों के अवसर प्रभावित हो सकते हैं। यद्यपि सीबीएसई उन छात्रों के लिए फिर से परीक्षा कराने को तैयार है जो उत्तर-पूर्वी दिल्ली में ङ्क्षहसा के चलते तय कार्यक्रम के अनुसार बोर्ड परीक्षाओं में नहीं बैठ पाए थे। इसके अलावा कोर्ट के आदेशानुसार जेईई मेन्स की परीक्षा भी 3 अप्रैल से 19 अप्रैल तक निर्धारित है।

Next Post

आयुष्मान की किन फिल्मों ने बदला समाज की तरफ देखने का उनका नज़रिया

Mon Mar 2 , 2020
विभव देव शुक्ला आयुष्मान खुराना की फिल्में इन दिनों काफी चर्चा में रहती हैं। चर्चा में रहने के साथ-साथ उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं और ऐसे मुद्दों पर होती हैं जो हट कर होते हैं। हाल ही में उनकी फिल्म ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ रिलीज़ […]