किसान खुद को आधा दफ़ना कर मांग रहे अपना हक

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। भारत में किसानों की हालत दिन-ब-दिन ख़राब होती जा रही है। लगभग इक्कीस किसानों ने खुद को जमीन में आधा दफ़न कर दिया है। उनके साथ पांच महिला किसान भी हैं। वजह वही पुरानी है किसानों का शोषण।

राजस्थान में सोमवार को जयपुर के नींदड़ गांव में जयपुर विकास प्राधिकरण (जेडीए) द्वारा भूमि अधिग्रहण के प्रावधानों के खिलाफ किसानों ने ‘जमीन समाधि सत्याग्रह’ किया। यहां के किसान काफी समय से भूमि अधिग्रहण की खिलाफत कर रहे हैं। मगर सरकर की ओर से अभी तक किसानों की मांगों पर कोई सुनवाई नहीं हुई है। इससे पहले भी कई बार यहां के किसान जमीन समाधि सत्याग्रह कर चुके हैं।

दरअसल किसानों की मांग है कि संशोधित भूमि अधिग्रहण कानून के अनुसार उनकी जमीनों का अधिग्रहण किया जाए और उसके अनुसार मुआवजा दिया जाए। उन्होंने पहली बार जनवरी में ‘ज़मीन समाधि सत्याग्रह’ आयोजित की थी, लेकिन चार दिनों के बाद विरोध प्रदर्शन बंद कर दिया क्योंकि राज्य सरकार ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह 50 दिनों के भीतर उनकी चिंताओं का समाधान करेंगे।

नागेंद्र सिंह शेखावत जो युवा किसान संघर्ष समिति के नेता हैं उन्होंने कहा, “पांच महिलाओं सहित इक्कीस किसानों ने रविवार को ज़मीन समाधि ले ली है। विरोध प्रदर्शन सोमवार को 51 किसानों के साथ होगा। हम तब तक विरोध प्रदर्शन करेंगे जब तक किसानों को उनका अधिकार नहीं मिल जाता।”

किसानों ने जेडीए के ख़िलाफ़ 1,300 बीघा से अधिक भूमि के अधिग्रहण करने के मामले में अक्टूबर 2017 में भी विरोध प्रदर्शन किया था, जिसमें से कुछ ने भूख हड़ताल भी की थी। जेडीए ने अब तक 600 बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया है और मुआवजे के रूप में एक स्थानीय अदालत में 60 करोड़ रुपये जमा किए हैं। ग्रामीणों ने इस राशि को स्वीकार करने से इनकार कर दिया, यह दावा करते हुए कि यह प्रचलित बाजार दरों के हिसाब से बहुत कम है। घोषित आवास योजना के तहत ये वादा किया गया था जनवरी 2011 में लगभग 10,000 घर बनाए जाएंगे।

Next Post

विपक्ष में नहीं बैठ पा रहे शिवराज, करोड़ों देकर विधायक खरीदने की कोशिश में - दिग्विजय सिंह

Mon Mar 2 , 2020
विभव देव शुक्ला मध्य प्रदेश की राजनीति में फिलहाल काफी कुछ हो रहा है और इस उतार चढ़ाव के दौर में सभी शामिल हैं चाहे पक्ष हो या विपक्ष। इसी कड़ी में सबसे ताज़ा प्रक्रिया आई है भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह की तरफ से, जिसमें उन्होंने […]