यूनेस्को टीम जानने आएगी इंदौरी गेर की खासियत

नगर संवाददाता | इंदौर

पुलिस-प्रशासन ने आयोजकों से की गेर को यादगार बनाने की अपील

देशभर में शहर की पहचान बन चुकी रंगपंचमी पर निकलने वाली रंगारंग गेर इस बार 14 मार्च को निकलेगी। इसमें हमेशा की तरह इस वर्ष भी लाखों लोग हजारों किलो गुलाल और रंगीन पानी की बौछारों से सराबोर होंगे। खास बात यह कि कलेक्टर लोकेश जाटव के प्रयासों से शहर की इस ऐतिहासक गेर को विश्व धरोहर की सूची में शामिल करने के लिए इस बार यूनेस्को की टीम भी इसकी खासियत देखने राजबाड़ा पर मौजूद रहेगी।

इस परंपरागत गेर को लेकर शनिवार को पुलिस ने नगर सुरक्षा समिति के सदस्यों के साथ बैठक की। अधिकारियों ने यूनेस्को टीम की मौजूदगी की जानकारी देते हुए गेर निकालने वाले आयोजकों से भी अपील की है कि गेर को यादगार बनाने में कोई कसर न छोड़ें। वहीं हुड़दंगियों पर कड़ी नजर रखी जाएगी। इस बार भी टोरी कॉर्नर रंगपंचमी महोत्सव समिति, रसिया कॉर्नर, संगम कॉर्नर और मॉरल क्लब की गेर के अलावा हिंद रक्षक संगठन की रंगारंग फागयात्रा निकलेगी। वहीं नगर निगम ने पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी गेर के बाद सड़कों की सफाई को लेकर अभी से तैयारी शुरू कर दी है।

कोरोना : चाइनीज रंगों के इस्तेमाल से बचें

चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए होली के पर्व पर शहरवासियों को चाइनीज रंगों से परहेज करने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी इस संबंध में लगातार संदेश वायरल हो रहे हैं, जिनमें लोगों को होली पर चाइनीज रंगों का प्रयोग नहीं करने की सलाह दी जा रही है। वायरल मैसेज में रंगों और गुलाल के जरिये कोरोना वायरस फैलने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर फैलता है, लेकिन एहतियात के तौर पर चाइनीज रंगों का इस्तेमाल न ही करें तो बेहतर होगा।

Next Post

ओवैसी की पार्टी के विधायक ने कहा 'शांति बनाना जानते हैं तो बिगाड़ना भी जानते हैं'

Mon Mar 2 , 2020
विभव देव शुक्ला राजनीतिक दलों के नेता अक्सर अपने विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में रहते हैं। असदुद्दीन ओवैसी के राजनीतिक दल मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के विधायक ने एक ऐसा ही बयान दिया है जिसकी चर्चा फिलहाल हर जगह हो रही है। माननीय का नाम है मुफ़्ती मोहम्मद इस्माइल और […]