स्वास्थ्य विभाग की टीम संदिग्धों को अलग रहने की सलाह देकर लौट आई, न जांच, न किया भर्ती

संतोष शितोले | इंदौर

ताईवान से लौटकर 14 दिन हो गए तब घर पहुंचकर कहा आइसोलेशन में रहो

कोरोना पर गंभीर लापरवाही, देश के हवाई अड्‌डों पर भी जांच के नाम पर यात्रियों से पूछा जा रहा- बुखार, खांसी तो नहीं है, इंदौर में स्वास्थ्य विभाग की जानलेवा कोरोना वायरस पर सतर्कता का नमूना देखिए…दुनियाभर में 32 से ज्यादा देशों में खतरनाक कोरोना वायरस के मरीज पाए जाने के बावजूद स्थानीय स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह जागरूक नहीं है। हद तो तब हो गई जब ताईवान से इंदौर लौटे छह लोगों के मामले में स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके घर पहुंची और स्क्रीनिंग कर हिदायत दी कि कुछ दिनों तक आप किसी बाहरी लोगों से न मिलें और न ही हाथ मिलाएं। इन सभी को ‘होम आइसोलेशन’ की हिदायत देकर टीम लौट गई और अस्पताल के आइसोलेशन यूनिट में भर्ती कराना ही मुनासिब नहीं समझा।

सोमवार को स्वास्थ्य विभाग (भोपाल) से स्थानीय अधिकारियों को ताईवान से इंदौर लौटे छह लोगों की लिस्ट भेजी गई है। इन सभी लोगों की स्क्रीनिंग कर मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए गए। इस पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन सभी से संपर्क कर इनकी जानकारी जुटाई। दरअसल, इन छह लोगों में से चार एक ही परिवार के हैं जबकि दो लोग इनके नजदीकी रिश्तेदार हैं। पिछले दिनों ये सभी ताईवान घूमने गए थे और 18 फरवरी को इंदौर लौटे। इधर, इंटीग्रेटेड डिसीज सर्विलेंस प्रोग्राम (आईडीएसपी) के नोडल अधिकारी डॉ. संतोष सिसौदिया को इनकी जानकारी लगी तो एक टीम इन लोगों के घर भेजी गई। टीम ने इन सभी से पूछताछ की। फिर इनकी स्क्रीनिंग कर लोगों से दूर रहने की हिदायत दी।

भारत में संक्रमणरहित करना तो दूर की बात जांच तक ठीक से नहीं की जा रही, डॉक्टर्स भी बिना जरूरी संसाधनों के सिर्फ टेबल लगाकर बैठे हैं।

नोडल अधिकारी का जवाब… आइसोलेशन काे कहा, वाकई संक्रमित होते तो 14 दिन कैसे बिताते
जानलेवा कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग का कड़ा आदेश है कि ऐसा कोई संदिग्ध व्यक्ति पाया जाता है तो उसकी स्क्रीनिंग कर अस्पताल से आइसोलेशन यूनिट में 14 दिन तक रखें। इसके साथ ही उसका सेम्पल नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरालॉजी (पुणे) भेजे। इसके बावजूद स्थानीय स्तर पर मामले को इतनी सहजता से लिया गया। आईडीएसपी के नोडल अधिकारी डॉ. संतोष सिसौदिया ने सफाई दी है कि उन्हें भोपाल से विभाग ने 1 मार्च को ताईवान से इंदौर लौटे छह लोगों की लिस्ट के साथ उन्हें आइसोलेशन में रखने को कहा था। चूंकि ये सभी 18 फरवरी को इंदौर लौट आए थे और 14 दिन हो चुके हैं, इसलिए इन्हें ‘होम आइसोलेशन’ में रखने की हिदायत दी है। डॉ. सिसौदिया का कहना है कि ये लोग मुंबई एयरपोर्ट से इंदौर आए थे।

तेलंगाना और दिल्ली में दो और मरीज पॉजिटिव

नई दिल्ली। दिल्ली और तेलंगाना में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आए हैं। केरल के बाद ये नए राज्यों में दस्तक है। जो एक गंभीर संकेत है। तत्काल हवाई अड्डों की जांच के तरीकों को बदलने की जरूरत है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को दो नए मामलों की जानकारी खुद मीडिया को दी। हर्षवर्धन ने कहा कि कुछ और देशों पर भी यात्रा प्रतिबंध लगाया जा सकता है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि दिल्ली और तेलंगाना में कोरोना वायरस के 2 मामले सामने आए हैं। ये दोनों यात्री इटली और दुबई से आए हैं। भारत में अब तक कुल 5 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। हर्षवर्धन ने कहा कि हालात और खराब हुए तो, यात्रा प्रतिबंधों को अन्य देशों के लिए भी बढ़ाया जा सकता है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पहले हम चीन, सिंगापुर, थाइलैंड, हांगकांग, जापान, दक्षिण कोरिया से आने वाले यात्रियों की यूनिवर्सल स्क्रीनिंग कर रहे थे, जिसमें बाद में हमने वियतनाम, मलेशिया, नेपाल, इंडोनेशिया, ईरान और इटली को जोड़ा है। अब हम 12 देशों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं। हवाई अड्डों पर 5 लाख 57 हजार 431 यात्रियों की जांच की गई है।

Next Post

लखनऊ विश्वविद्यालय में छात्रों के बीच होगी खुश रहने की पढ़ाई

Tue Mar 3 , 2020
विभव देव शुक्ला हमारे देश में शिक्षा को लेकर अक्सर नए प्रयोग होते रहते हैं और ऐसे प्रयोगों के चर्चे भी खूब होते हैं। कभी इन प्रयोगों के लिए लोगों का रवैया सकारात्मक रहता है तो कभी ज़रा कम सकारात्मक रहता है। ऐसा ही एक अलग प्रयोग उत्तर प्रदेश की […]