‘हनी’ के फेर में त्रिपाठी बार-बार बदल रहे ठिकाना

धर्मेंद्र पैगवार | भोपाल

दिल्ली में भाजपा नेतृत्व के सामने पाला न बदलने की शपथ लेने वाले त्रिपाठी ने भोपाल में लैंड होते ही आखिर सीएम हाउस की दौड़ क्यों लगाई

ज्ञान की देवी शारदा के क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे विधायक नारायण त्रिपाठी कोई फैसला नहीं ले पा रहे हैं। असमंजस में फंसे त्रिपाठी के ऊपर हनी ट्रैप की तलवार लटकी है। कुछ साल पहले एक महिला मित्र के साथ उनका अंतरंग वीडियो सामने आया था। यही वजह है कि दिल्ली में भाजपा नेताओं के सामने मैया की कसम खाकर पार्टी का साथ देने का वादा करके आए नारायण त्रिपाठी को विमानतल पर उतरते ही मुख्यमंत्री निवास जाना पड़ा। वे चुप हैं और भोपाल में लगातार अपना ठिकाना बदल रहे हैं।

गुरुवार रात नारायण त्रिपाठी दिल्ली से भोपाल आए थे। विमानतल से वे सीधे मुख्यमंत्री निवास पहुंचे थे। उसके पहले उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति से मुलाकात की थी। बाहर निकलकर त्रिपाठी ने ऐसा कोई बयान तो नहीं दिया कि वह किसके साथ हैं। उच्च पदस्थ सूत्र बताते हैं कि त्रिपाठी ने हनी ट्रैप में फंसने के बाद पाला लगभग बदल लिया है। सत्तापक्ष से जुड़े लोगों ने उन्हें यह पूरा मामला ना केवल सुनाया बल्कि उनके साथ अन्य बातें भी कीं।

सूत्र बताते हैं कि गुरुवार को उन्होंने दिल्ली में मध्य प्रदेश से सांसद व केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में मैहर वाली माता की कसम खाकर पाला नहीं बदलने का वादा किया था।

सूत्र बताते हैं कि त्रिपाठी ने अपना इस्तीफा तैयार कर लिया है, लेकिन इस्तीफे के पहले मैहर की जनता को संदेश देना चाहते हैं कि वे विकास के लिए पाला बदल रहे हैं। उनसे मैहर को जिला बनाने का भी वादा किया गया है। शुक्रवार को वे पूरी तरह खामोश रहे। वे डीबी मॉल स्थित होटल कोर्टयार्ड मैरियट में रुके थे। दोपहर में उन्होंने अपना ठिकाना बदल लिया। सोमवार सुबह से ही उनके मोबाइल फोन बंद हैं। वे किसी से भी बात नहीं कर रहे हैं। त्रिपाठी यदि भाजपा नहीं छोड़ते हैं तो हनी ट्रैप की तलवार लटकी है और इस्तीफा देते हैं तो विधायकी जाने का डर है।

Next Post

शादी टूटने को लेकर दीया मिर्ज़ा ने बताया 'लोग मुझसे पूछते हैं कि मैं कितनी मजबूत हूँ'

Sat Mar 7 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। किसी भी औरत के लिए तलाक के बाद की ज़िन्दगी कितनी मुश्किल होती है ये शायद हम यहाँ बैठ कर अंदाज़ा भी नहीं लगा सकते लेकिन वो उस ज़िन्दगी को जी रही होती है। दीया मिर्ज़ा ने एक इंटरव्यू में अपने सेपरेशन की बातें शेयर की हैं। […]