शिवराज और मैं मिलकर एक और एक दो नहीं, ग्यारह बनेंगे : सिंधिया

प्रजातंत्र ब्यूरो | भोपाल

मेरी दादी, मेरे पिता को ललकारा गया तो उन्होंने कड़ा जवाब दिया मैं भी वही कर रहा हूं, जनसेवा में खून-पसीना बहाने में भी पीछे नहीं हटूंगा

कांग्रेस से अलग होने के बाद भाजपा में शामिल हो चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को मध्य प्रदेश पहुंचे। भाजपा मुख्यालय में उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ की। सिंधिया ने कहा कि मध्य प्रदेश में दो नेता हैं जो शायद अपनी कार में एसी न चलाएं, वो केवल शिवराज सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं। मेरी आशा है कि आप (शिवराज) एक हैं और हम एक हैं और जब एक और एक मिल जाए तो दो नहीं, 11 होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब सिंधिया परिवार को ललकारा जाता है तो वह चुप नहीं रहता। मेरी दादी, मेरे पिता को ललकारा गया तो उन्होंने कड़ा जवाब दिया, मैं भी वही कर रहा हूं।

इससे पहले, जब सिंधिया भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट पर पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत किया गया। समर्थकों ने उनको कंधों पर उठा लिया। भाजपा के कई बड़े नेता उनकी अगवानी करने पहुंचे। इनमें प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह, रामपाल सिंह, यशोधरा राजे सिंधिया, भाजपा छोड़ चुके पूर्व मंत्री सरताज सिंह भी शामिल थे।

भोपाल में सिंधिया ने रोड शो भी किया। वह काफिले के साथ भाजपा कार्यालय में पहुंचे। उनके साथ शिवराज सिंह चौहान भी थे। सिंधिया ने कहा कि जिस संगठन (कांग्रेस) में मैंने 20 साल बिताए हैं, मेरी मेहनत, मेरी लगन, मेरा प्रण और संकल्प के साथ अपना पसीना बहाया है, वह सब छोड़कर मैं खुद को आपके हवाले कर रहा हूं। प्रदेश में जो स्थिति है, उसे आपने (शिवराज) बाहर से देखा है, पर मैंने अंदर से देखा है। बाहर से कटाक्ष करना आसान है, लेकिन अंदर रहकर आलोचना करना बड़ा मुश्किल है। सिंधिया ने कहा कि जब मैंने अतिथि विद्वानों की बात उठाई, किसानों की बात उठाई और कहा कि अगर वचन पत्र के मुद्दे पूरे नहीं हुए तो सड़क पर उतरूंगा तो मुझे कहा गया, उतर जाओ।

मैं खुद को भाजपा को समर्पित करता हूं

सिंधिया ने कहा कि आज मेरे लिए बहुत भावुक दिन है। मैं अपने आपको भाग्यशाली मानता हूं कि भाजपा ने अपने दरवाजे मेरे लिए खोले और मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी, जेपी नड्डा और अमित भाई का आशीर्वाद मिला। जनता के दिल में स्थान पाना मेरा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि जहां आपका एक बूंद पसीना टपकेगा, वहां सिंधिया का 100 बूंद पसीना टपकेगा और अगर खून की भी जरूरत होगी तो सिंधिया आपके लिए हाजिर है।

डॉ. सुमेरसिंह सोलंकी भाजपा के राज्यसभा प्रत्याशी : भाजपा ने राज्यसभा के लिए मध्य प्रदेश से दूसरा टिकट डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी को दिया है। इसके अलावा हरियाणा से रामचंद्र झांगड़ा और दुष्यंत कुमार गौतम, हिमाचल प्रदेश से इंदू गोस्वामी और महाराष्ट्र से डॉ. भगवत कराड़ को भी टिकट दिया है।

Next Post

कांग्रेस छोड़ भाजपा में आनेवाले नेताओं की सूची लंबी, कई राज्यों में हैं मंत्री

Fri Mar 13 , 2020
नई दिल्ली राजनीति में न तो कोई स्थायी दुश्मन होता है और न ही कोई स्थायी मित्र। इस कहावत को कांग्रेस के दिग्गज युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चरितार्थ कर दिया है। उन्होंने कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया। हालांकि, उन्हें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी […]