कंगाल पाक में अब गवर्नर हाउस भी शादी के लिए किराये पर

लाहौर

पाकिस्तान में लाहौर के मशहूर गर्वनर हाउस को किराये पर लगा दिया गया है। सरकार शादियों और अन्य समारोहों से पैसा कमाना चाहती है। पाकिस्तान की खस्ताहाल अर्थव्यवस्था को सहारा देने और सरकार पर बढ़ते बोझ को कम करने के लिए इमरान खान की संघीय सरकार सरकारी खर्चो को कम करने के साथ ही तरह-तरह के उपाय कर रही है। इस बीच अब सरकारी राजस्व को बढ़ाने के लिए पंजाब के राज्यपाल चौधरी मुहम्मद सरवर ने घोषणा की है कि शादी समारोह व अन्य व्यावसायिक कार्यक्रमों के लिए गवर्नर हाउस के दरवाजे खोले जाएंगे।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, जो लोग ऐतिहासिक स्थानों पर शादी, कॉर्पोरेट कार्यक्रम या अन्य समारोह को आयोजित करके अपने पलों को यादगार बनाने का सपना देख रहे हैं, उनके पास अब अपने सपनों को साकार करने का अवसर होगा। गवर्नर हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सरवर ने घोषणा की कि इमारत का लॉन कॉर्पोरेट कार्यक्रमों के लिए 10 लाख रुपये प्रति समारोह के दाम पर उपलब्ध है। इसके अलावा दरबार हॉल में किसी भी प्रकार के समारोह की मेजबानी पांच लाख रुपये में की जा सकती है।

शादी समारोह की फोटोग्राफी को 50,000 और कॉमर्शियल फोटो शूट के लिए 10 लाख रुपये में बुक किया जा सकता है। इसके साथ ही गवर्नर हाउस में गाइड द्वारा निर्देशित पर्यटन भी शुरू किया गया है, जो शनिवार और रविवार को 10 व्यक्तियों के समूह के लिए उपलब्ध हो सकेगा। इस दौरान सरवर ने कहा, “हमें विश्वास है कि इस व्यावसायिक योजना से गवर्नर हाउस को अपना बोझ कम करने में मदद करेगी। सरकार इस व्यवसाय योजना के लिए प्रतिबद्ध है।”

लग्जरी कार से लेकर भैंसों तक की नीलामी

इमरान सरकार किफायत बरतने के अभियान के तहत पहले भी कई कदम उठा चुकी है। लग्जरी कारों से लेकर भैंस तक की नीलामी हो चुकी है। प्रधानमंत्री आवास की 102 लग्जरी कारों को बेचने से सरकार को बाजार से ऊंचा दाम मिला। प्रधानमंत्री आवास की आठ भैंसें भी बेची जा चुकी हैं। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री आवास में इन भैंसों को पाल रखा था। सरकार मंत्रिमंडल के उपयोग के लिए रखे गए चार हेलिकॉप्टर भी नीलाम कर चुकी है। जिन कारों को बेचा गया, उनमें मर्सिडीज बेंज, बुलेट प्रुफ बीएमडब्ल्यू भी शामिल हैं।

Next Post

नड्डा से मुलाकात के बाद हवाईअड्डे से ही लौट गए कांग्रेसी विधायक

Sat Mar 14 , 2020
प्रजातंत्र ब्यूरो | भोपाल राजधानी भोपाल से लेकर बेंगलुरु तक शुक्रवार का दिन बागी विधायकों का इंतजार करते हुए बीता। बेंगलुरु के रिसोर्ट में रुके कांग्रेस के 19 विधायकों को शुक्रवार दोपहर भोपाल आना था। विधायक बेंगलुरु एयरपोर्ट तक भी पहुंचे लेकिन वापस हो गए। उन्हें भोपाल तक लाने के […]