कोरोना वायरस के डर के बीच केरल की ये सोच और तस्वीर दिल जीत रही है

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। आंगनबाड़ी की महिलाएं और मीड डे मील अक्सर बच्चों को ख़राब खाना खिलाने को लेकर सुर्ख़ियों में रहता है। लेकिन वायरल हो रही ये मीड डे मील की तस्वीर और उसके पीछे की सच्चाई जान कर सच में आपका दिन बन जायेगा।

दरअसल केरल के राज्य प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग राज्य में कोरोनावायरस जैसी गंभीर स्थिति को संभालने के लिए नए- नए तरीकों द्वारा जागरूकता फैला रही है। इन प्रत्याशित उपायों के अलावा, राज्य सरकार को इसके कुछ अन्य विचारशील क़दमों पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

मलयाला मनोरमा अखबार के फोटोग्राफर जिन माइकल द्वारा क्लिक की गई तस्वीर में आंगनवाड़ी शिक्षक को केरल के पलक्कड़ जिले में एक बच्चे के घर में बातचीत करते हुए दिखाया गया है। जिसमें ये बताया जा रहा है कि राज्य सरकार ने कहा कि वह राज्य भर के आंगनवाड़ी केंद्रों में दिए जाने वाले मध्यान्ह भोजन की होम-डिलीवरी करेगा।

केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने मंगलवार को घोषणा की थी कि स्कूल, कॉलेज और आंगनवाड़ी केंद्र 31 मार्च तक बंद रहेंगे। आंगनबाड़ी बंद होने की स्थिति में जिन बच्चों को मध्याहन भोजन मिलता था अब वो नहीं मिल पा रहा था। अब इस फैसले के आने के बाद बच्चों सहित उनको भी भोजन उपलब्ध कराया जायेगा जो अपने घरों में नज़रबंद हैं।

संदिग्ध कोरोना वायरस रोगियों का पता लगाने और उन्हें आवश्यक स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के बीच इन छोटी-छोटी बातों के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा कई तस्वीरों को ट्विटर पर व्यापक रूप से साझा किया जा रहा है। पिनाराई ने यह भी कहा था कि जिला कलेक्टरों को उन लोगों को भोजन पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी जो अपने घरों में निगरानी में हैं। ब्रॉडबैंड इंटरनेट की गुणवत्ता और उपलब्धता में सुधार करने का प्रयास किया जा रहा है क्योंकि ज्यादातर लोग कोरोना वायरस के कारण अपने घरों से ही काम कर रहे हैं।

इसके अलावा, केरल सरकार ने सभी सार्वजनिक कार्यों को रद्द कर दिया है। मुख्यमंत्री ने सभी केरलवासियों को धार्मिक और मंदिर समारोहों सहित बड़े समारोहों और सार्वजनिक समारोहों से बचने के लिए कहा है। केरल में कोरोनोवायरस के कुल 16 मामले सामने आए हैं, जिनमें तीन लोग थे जो पूरी तरह से ठीक हो गए थे।

भारत में घातक हो चुके कोरोना वायरस से देश में दूसरी मौत हुई है। दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया है। इससे पहले कर्नाटक में एक बुजुर्ग की कोरोना से मौत हुई थी। कोरोना वायरस से संक्रमित 81 लोगों के संपर्क में आए कुल 4,000 लोगों को पूरे देश में गहन निगरानी में रखा गया है जबकि समूचे देश में 42,000 लोगों को सामुदायिक निगरानी में रखा गया है।

Next Post

माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर का इस्तीफ़ा, ये है वजह

Sat Mar 14 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। माइक्रोसॉफ्ट ने एक घोषणा की है। घोषणा में बताया गया है कि बिल गेट्स ने कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी का कहना है कि वह अपना ज्यादा समय लोगों की भलाई के काम में देना चाहते हैं इसलिए उन्होंने इस्तीफ़ा दिया […]