वॉलबी पूरी जिंदगी रहता है प्रेग्नेंट, हर 30 दिन में दे सकता है एक बच्चे को जन्म

नई दिल्ली

पृथ्वी पर मौजूद ज्यादातर प्राणियों को एक के बाद दूसरे बच्चे को जन्म देने के लिए कुछ वक्त लगता है। आप जानकार हैरान रह जाएंगे कि एक ऐसा जानवर भी है, जो एक बच्चे को जन्म देने से कुछ दिन पहले ही फिर प्रेग्नेंट हो जाता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, कंगारू से संबंधित शिशु को जन्म देने वाली प्रजाति स्वैम्प वॉलबी पृथ्वी पर मौजूद अकेला ऐसा प्राणी है जो पूरे जीवन प्रेग्नेंट रहता है। मजेदार तथ्य है कि ये जानवर प्रेग्नें सी के दौरान भी नवजात को स्तनपान कराता रहता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न और बर्लिन के लेब्नीज इंस्टीट्यूट फौर जू एंड वाइल्डलाइफ रिसर्च के शोधकर्ताओं के मुताबिक, मादा वॉलबी और कंगारुओं में दो यूटरस और दो ओवरी होती हैं। एक यूटरस में प्रेग्नेंसी का समय पूरा होने से कुछ दिन पहले ही दूसरे यूटरस में नए भ्रूण तैयार हो जाता है। कंगारू और वॉलबी के दोनों में से एक यूटरस में हमेशा भ्रूण रहता है। जर्नल ‘प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस ऑफ द यूएसए’ में छपे शोध के मुताबिक, इस दौरान वह अपने एक नवजात और दूसरे कुछ महीने के बच्चे को स्तनपान भी कराती रहती है।

कंगारू और वॉलबी में बच्चों को जन्म देने व गर्भधारण में मामूली अंतर होता है। मादा कंगारू एक बच्चे को जन्म देने के दो या तीन दिन बाद नया गर्भ धारण करती है, जबकि वॉलबी बच्चे के जन्म से दो-तीन दिन पहले ही प्रेग्नेंट हो जाती है। इसके लिए शोधकार्ताओं ने 10 मादा स्वैम्प वॉलबी का हाई-रिजॉल्यूरश अल्ट्रा साउंड कर अध्ययन किया। शोधकर्ताओं ने पाया कि वॉलबी जैसे ही एक बच्चे को जन्म देती है और बच्चा उसकी थैली में आ जाता है, ठीक उसी समय दूसरे भ्रूण का यूटरस में विकास होना शुरू हो जाता है। इसे एम्ब्रायोनिक डायपॉज कहा जाता है।

बच्चे को जन्म देने से पहले ही कर लेती है गर्भ धारण

बॉलबी हर 30 दिन में एक बच्चे को दे सकती है जन्म मादा वॉलबी एक बच्चे के जन्म को तब तक टाल सकती हैं, जब तक पहले जन्म ले चुका बच्चा उसकी थैली से बाहर निकलकर चलना शुरू नहीं कर देता। अगर ऐसा न हो तो एक वॉलबी हर 30 दिन में एक बच्चे को जन्म दे सकती है। दरअसल, वॉलबी का प्रेग्नेंसी पीरियड 30 दिन ही होता है। स्वैम्प वॉलबी के अलावा यूरोपीयन ब्राउन हेयर ही दूसरा स्तनधारी जानवर है, जो एक बच्चे को जन्म देने से पहले ही गर्भ धारण कर लेता है। हालांकि, दोनों में दो प्रमुख अंतर हैं। हेयर के एसी यूटरस में भ्रूण तैयार होता है, जिससे पहले बच्चे को जन्म देता है। दूसरा स्वैम्प वॉलबी ही अकेला ऐसा जानवर है, जो पूरे जीवन प्रेग्नेंट रहता है।

हेयर साल में 5-6 महीने के दौरान हो सकती है प्रेग्नेंट

यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न के डॉ. ब्रैंडन मेंजिस ने बताया कि हेयर साल में 5-6 महीनों के दौरान ही बार-बार प्रेग्नेंट हो सकता है। बाकी समय न तो ये प्रेग्नेंट हो सकता है और न ही स्तनपान करा सकता है। शोधकर्ताओं को इस अध्ययन के जरिये सामान्य निष्कर्षों के साथ ही मैमल्स में बच्चों को जन्म देने के चलन के नए और वृहद आयामों की भी जानकारी मिली। ज्यादातर मैमल में प्रेग्नेंसी की अवधि लंबी होती है. इस शोध से पता चला कि एक मैमल ऐसा भी है, जो एक बच्चे को जन्म देने से पहले ही गर्भधारण कर सकता है। ये मैमल में सामान्य प्रक्रिया नहीं है।

Next Post

‘दंगाइयों’ के होर्डिंग के खिलाफ चिन्मयानंद और सेंगर के होर्डिंग

Sat Mar 14 , 2020
लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा करने वाले आरोपियों के होर्डिंग लगवाने को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक ओर जहां इलाहाबाद हाईकोर्ट के होर्डिंग हटवाने के आदेश के खिलाफ यूपी सरकार सुप्रीम […]