बिना टेस्ट के रोम से 20 भारतीय दुबई होते हुए देश आए

पूर्वा देशलहरा/ इंदौर

कोरोना… इटली में फंसे भारतीय बोले, नियम क्या एअर इंडिया के यात्रियों के लिए ही हैं

इटली की राजधानी रोम में चार दिनों से भी ज्यादा से फंसे 100 से ज्यादा भारतीयों ने देश में इटली से आने वाले यात्रियों के लिए बनाए गए नियमों पर एक बड़ा सवाल खड़ा किया है। रोम में फंसे भारतीयों का कहना है कि उन्होंने एअर इंडिया की फ्लाइट से बुकिंग की थी इसलिए उन्हें भारत ले जाने से पहले उनकी जांच करवाई जा रही है, लेकिन अन्य 20 भारतीय रोम से दुबई होते हुए शनिवार को भारत भी पहुंच गए और उनकी कोरोना की कोई जांच नहीं की गई, न ही उनके सैंपल लिए गए हैं। इसकी पुष्टि इन यात्रियों के साथ भारत पहुंची एक छात्रा ने भी की है।

बता दें कि रोम में 100 से ज्यादा भारतीय चार दिनों से फंसे हुए हैं। इनमें इंदौर की एक छात्रा भी है। ये 11 मार्च को एअर इंडिया की रोम से दिल्ली आने वाली फ्लाइट के लिए एयरपोर्ट पहुंचे थे, लेकिन इन्हें कहा गया कि जब तक इनके पास कोरोना न होने का सर्टिफिकेट नहीं होगा, तब तक इन्हें भारत नहीं ले जाया जा सकता है।

हर जगह सामान्य जांच ही हुई : छात्रा

‘प्रजातंत्र’ ने शनिवार सुबह केरल के कोच्चि पहुंची छात्रा हिमा बिजु से बातचीत की। हिमा ने बताया कि वो जब 13 मार्च को रोम एयरपोर्ट पर एमिरेट्स एयर लाइंस के काउंटर पर टिकट रिफंड की राशि लेने पहुंची तो कहा गया कि एयरलाइंस उसे दुबई होते हुए कोच्चि की फ्लाइट दे सकती है। उसने हां कह दिया। जिसके बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने उसके आई-पेड के जरिये सामान्य स्क्रीनिंग की और उसे दुबई की फ्लाइट में रवाना कर दिया। कहीं भी सामान्य स्क्रीनिंग के अलावा कोई जांच नहीं की गई। इस पर रोम में फंसे यात्रियों ने कहा कि क्या सिर्फ एअर इंडिया की फ्लाइट से भारत जाने वालों से ही देश को कोरोना का खतरा है?

Next Post

कोरोना ने एमपी सरकार को डूबने से बचा लिया, 26 मार्च तक विधानसभा स्थगित

Mon Mar 16 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। मध्यप्रदेश में फ्लोर टेस्ट को लेकर सस्पेंस बना हुआ था कि क्या होने वाला है? लेकिन अब ये जिज्ञासा ख़त्म हो गयी है कमलनाथ सरकार को आज फ्लोर टेस्ट का सामना नहीं करना पड़ेगा। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए विधानसभा की कार्यवाही […]