हवाई अड्डा, ताज की पार्टी, पॉश अपार्टमेंट, कहाँ-कहाँ कोरोना लेकर गईं कनिका

विभव देव शुक्ला

सरकार से लेकर आम जनता तक सभी कोरोना वायरस का सामना करने में जुटे हुए हैं। हाल फिलहाल का समय देश के हर व्यक्ति के लिए कठिन है, ऐसे में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए। लेकिन एहतियाद और सावधानियों के दौर में कुछ घटनाएँ ऐसी होती हैं जिनका असर काफी ज़्यादा होता है। कुछ ऐसा ही हुआ बॉलीवुड की मशहूर गायिका कनिका कपूर के साथ जो कोरोना वायरस से प्रभावित हैं।

छिप गईं हवाई अड्डे के बाथरूम में
हालांकि जहाँ एक तरफ देश में कोरोना से 200 से ज़्यादा लोग प्रभावित हैं ऐसे में एक गायिका का कोरोना वायरस से प्रभावित होना बहस का मुद्दा क्यों बना हुआ है? दरअसल कनिका कपूर बीते 15 मार्च को लंदन से भारत वापस आई थीं और फिर वह अपने घर लखनऊ आईं। ख़बरों की मानें तो वह कोरोना वायरस की जांच से बचने के हवाई अड्डे के बाथरूम में छिप गई थीं। जिसके चलते उनकी जाँच नहीं हो पाई थी।

कहाँ हुई पूरी लापरवाही
बीते रविवार को लखनऊ पहुँच कर वह एक पॉश अपार्टमेंट में हुई पार्टी में शामिल हुई थीं जिसमें लगभग 200 से ज़्यादा लोग शामिल हुए थे। इसके अलावा कनिका कपूर ने लखनऊ के मशहूर होटल में पार्टी रखी थी। वहाँ कई दिग्गज नेता और अधिकारी आए हुए थे।
उनके अलावा 3 और लोग कोरोना वायरस से प्रभावित पाए गए हैं। सभी को लखनऊ स्थित किंज जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में अलग रखा गया है। कनिका कपूर और उनके पूरे परिवार को क्वारंटाइन में रखा गया है साथ ही वह जिन-जिन लोगों से मिली थीं उनकी तलाशी भी शुरू हो गई है।

रिपोर्ट में हैं गलतियाँ
इस घटना का एक और पहलू है जो मामले को अलग दिशा देता है। किंज जॉर्ज मेडिकल कॉलेज ने कोरोना वायरस से प्रभावित कनिका कपूर समेत 4 लोगों की रिपोर्ट साझा की है। उस रिपोर्ट में कुछ गलतियाँ हैं, सबसे पहले कनिका कपूर की असल उम्र 41 साल है जबकि रिपोर्ट में 28 साल लिखी है। इसके अलावा वह फ़ीमेल हैं लेकिन उनके नाम के आगे मेल लिखा हुआ है। सोशल मीडिया पर कनिका कपूर की जम कर आलोचना भी हो रही है।

क्या कहती हैं कनिका
हालांकि घटना के सुर्खियों में आने के बाद कनिका कपूर का बयान भी आया है। उन्होंने अपने बयान में कहा पिछले 4 दिनों से मुझे फ्लू जैसी शिकायत महसूस हुई थी फिर मैं जाँच के लिए गई। जाँच के बाद पता चला कि मैं कोरोना वायरस से प्रभावित हूँ।
फिलहाल मैं और मेरा परिवार क्वारंटाइन में रखा गया है और हम पूरी तरह निगरानी में हैं। मैं जितने लोगों से संपर्क में थी उन सभी की जाँच शुरू की जाएगी। अभी से 10 दिन पहले हवाई अड्डे पर मेरी जाँच हुई थी लेकिन तब मुझे ऐसी कोई परेशानी नहीं थी। मेरे साथ यह परेशानी पिछले 4 दिनों से हुई है।

Next Post

जब कोरोना का खौफ हो पर शराब की तलब भी हावी हो तब नज़ारा ऐसा होता है

Fri Mar 20 , 2020
विभव देव शुक्ला कोरोना वायरस के ख़तरे को फिलहाल पूरी दुनिया समझ चुकी है। लिहाज़ा सरकार से लेकर जनता तक सभी इसका सामना करने के लिए डटे हुए हैं। इस कड़ी में समाज के हर हिस्से में पहल जारी है लेकिन कुछ कोशिशें ऐसी हैं जो खुद में अनूठी और […]