65000 रिटायर्ड नर्स और डॉक्टरों को ब्रिटेन ने वापस बुलाया, श्रीलंका में कर्फ्यू

लंदन/कोलंबो

इंग्लैंड की चीफ नर्सिंग ऑफिसर रुथ मे ने कहा, ‘हम अकेले ही इस काम को नहीं कर सकते हैं, इसलिए मैं उन सभी नर्सों से काम पर वापस आने का निवेदन करूंगी जिन्होंने हाल में ही काम छोड़ा

कोरोना वायरस संक्रमण से जंग लड़ने के क्रम में ब्रिटेन ने 65,000 पूर्व नर्स और डॉक्टंरों को वापस काम पर बुलाया है। साथ ही मेडिकल में पढ़ने वाले फाइनल ईयर के छात्रों को भी अस्पताल में मोर्चा संभालने के लिए बुलाया गया है। 1918 में इंफ्लूएंजा महामारी के बाद 2020 में संक्रामक बीमारी कोरोना वायरस ने महामारी का रूप ले लिया है और दुनिया के देशों में फैल गई है। इंग्लैंमड की चीफ नर्सिंग ऑफिसर रुथ मे ने कहा, ‘हम अकेले ही इस काम को कर सकते हैं, इसलिए मैं उन सभी नर्सों से काम पर वापस आने का निवेदन करूंगी जिन्होंने हाल में ही काम छोड़ा है।

नर्सिंग काउंसिल के अनुसार, पिछले तीन सालों में जिन 50,000 से अधिक नर्सों का रजिस्ट्रे शन रद्द हुआ था उन्हें बुलाया जा रहा है। जनरल मेडिकल काउंसिल 15,500 डॉक्टोरों को भी आने का निवेदन किया है जिन्होंने 2017 से काम छोड़ा है। ब्रिटेन की स्वास्थ सेवा ने वैसे बिस्त‍रों को खाली करवाया जहां ज्याजदा जरूरत नहीं है। ऐसे कुल 30,000 बिस्त्र हैं। बता दें कि ब्रिटेन में 144 संक्रमित लोगों की मौत हो गई औ 3,269 लोग टेस्टह में पॉजिटीव पाए गए हैं। श्रीलंका सरकार ने शुक्रवार को देश में राष्ट्रेव्या पी कर्फ्यू लगा दिया है। श्रीलंका के राष्ट्रमपति गोटाबाया राजपक्षे ने कहा कि यह कर्फ्यू शुक्रवार से सोमवार तक रहेगा। इसके बाद राष्ट्रछव्यापी कर्फ्यू की समीक्षा की जाएगी। राष्ट्रपति राजपक्षे के कार्यालय ने कहा कि देश को शुक्रवार रात 6 बजे (स्थानीय समय) से कर्फ्यू लागू हो जाएगा। इसके पूर्व वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर श्रीलंका ने मंगलवार को देश में आने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निलंबित कर दिया था। हालांकि, राष्ट्रसपति कार्यलय ने इसके लिए कोई कारण नहीं दिए हैं, लेकिन यह माना जा रहा है कि सरकार कोरोना से उत्पन्न होने वाले खतरे से निपटने के लिए इस प्रकार के कदम उठाए हैं।
हांग कांग में फिर कोरोना के मामलों में तेजी, एक ही दिन में बढ़े 48 नए मरीज

हांग कांग ने शुक्रवार को कोरोना वायरस के 48 नए मामलों की पुष्टि की। यह वायरस के प्रकोप के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा वृद्धि है। इन 48 लोगों में शामिल 36 लोगों के यात्रा के इतिहास देखने से पता चलता है कि इन लोगों ने सिंगापुर, यूके, यूएस, कनाडा, थाईलैंड और स्विटजरलैंड की यात्रा की थीं। हांग कांग में अब तक 257 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 106 मरीजों की हालत स्थिर है और एक मरीज की हालत नाजुक है।

भारतीय अमेरिकी डॉक्टरों ने देश को बंद करने का अनुरोध किया

अमेरिका में जानलेवा कोरोना वायरस के तेजी से फैलने को लेकर चिंतित भारतीय-अमेरिकी डॉक्टरों के एक प्रभावशाली समूह ने संघीय और राज्य सरकारों से शहरों एवं संस्थानों को पूरी तरह से बंद करने और देशवासियों को स्वत: पृथक रहने के लिए कहने का अनुरोध किया। अमेरिका में संक्रमित मामलों की संख्या 14,299 है और 218 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस के मामले सभी 50 राज्यों और डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया तथा प्युर्तो रिको में दर्ज किए गए हैं। अमेरिका ने शुक्रवार को घोषणा की है कि वह पाकिस्तान को कोरोनो वायरस प्रकोप के खिलाफ निगरानी और इससे निपटने में तेजी लाने में मदद करने के लिए अमेरिकी सहायता कार्यक्रम के तहत 10 लाख डॉलर देगा। वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स ने ट्विटर पर यह घोषणा की।

अमेरिका…एक ही परिवार के चार लोगों की मौत, 200 लोग की मौत

न्यूजर्सी में एक ही परिवार के चार सदस्यों की कोरोनावायरस के कारण मौत हो गई। सात सदस्यों वाली इस फैमिली के तीन मेंबर लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं। यह जानकारी सीएनएन ने शुक्रवार को दी। पेंटागन ने ट्रम्प सरकार को अपने दो मोबाइल मेडिकल शिप इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी है। अमेरिकी एयरफोर्स की एक मेडिकल यूनिट भी हेल्थ डिपार्टमेंट की मदद करेगी। ट्रम्प जल्द ही आपातकालीन बजट को मंजूरी दे सकते हैं। संसद ने इसे पारित कर दिया है। अमेरिका में मरने वालों की संख्या बढ़कर 200 हो गई।

चीन…लगातार दूसरे दिन कोई घरेलू मामला नहीं

कोरोना वायरस का केंद्र रहे चीन में लगातार दूसरे दिन इस जानलेवा विषाणु का कोई घरेलू मामला सामना नहीं आया। हालांकि तीन और लोगों की मौत के साथ देश में मृतकों की संख्या 3,248 पर पहुंच गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने कहा कि चीन में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण का कोई घरेलू मामला दर्ज नहीं किया गया। चीन ने पिछले तीन महीनों में कोविड-19 को फैलने से रोकने में अपने प्रयासों में बुधवार को अहम प्रगति की थी जब इस जानलेवा विषाणु का एक भी मामला सामने नहीं आया।

इटली…चीन से ज्यादा मौत

इटली में कोरोना की वजह से 3405 लोगों की मौत हो चुकी है। ये दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा है। वहीं, चीन में 3132 लोगों की मौत हुई है। मृतकों के मामले में इटली में चीन से ज्यादा जानें गई हैं। तीसरे नंबर पर ईरान है जहां 1284 लोग मारे जा चुके हैं।

फ्रांस…फ्रांस में आयोजित होने वाला कान्स फिल्म फेस्टिवल रद्द

फ्रांस में कोरोना वायरस का कहर जारी है। सरकार ने कई सैन्य टुकड़ियों को जिम्मा दिया है कि वो लॉकडाउन को सफल बनाएं। कुछ हद तक कामयाबी भी मिली। अब यहां के मशहूर कान्स फिल्म फेस्टिवल को भी रद्द कर दिया गया है। आयोजन समिति ने गुरुवार रात एक ट्वीट में यह जानकारी दी। यह समारोह 12 और 13 मई को आयोजित किया जाना था।

अर्जेंटीना…लॉकडाउन घोषित, मरने वालों की संख्या हुई 3

शुक्रवार को राष्ट्रपति अर्ल्बेटो फर्नांडीज ने देश में लॉकडाउन घोषित कर दिया। लोगों के कहा गया है कि वो घर से बाहर न निकलें। सभी आपातकालीन सेवाओं को लॉकडाउन से अलग रखा गया है। मरीजों को लॉकडाउन के दौरान निकलने की इजाजत दी गई है। लेकिन, जो लोग बिना किसी वाजिब वजह के घर से बाहर निकलेंगे उन्हें हिरासत में रखना होगा। तीन लोगों की मौत हो चुकी है।

दुनियाभर में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 10030 हुई

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में मरने वालों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 10,030 हो गई। जबकि कन्फर्म मामलों की कुल संख्या 244,523 हो गई है। अमेरिका के जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के ताजा आंकड़ों में यह जानकारी सामने आई है। अपडेट रिपोर्ट ने दर्शाया कि इटली में इस बीमारी की वजह से 3,405 लोगों की मौत हो चुकी है।

Next Post

जबलपुर में विदेश से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना पॉजिटिव

Sat Mar 21 , 2020
इंदौर/नई दिल्ली प्रदेश में भी वायरस का प्रवेश, प्रशासन सतर्क, एक्शन प्लान पर बैठकें मध्य प्रदेश के जबलपुर में शुक्रवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 4, केरल में 12 और राजस्थान में 8 मामलों की पुष्टि हुई। इसके साथ ही देश में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर करीब […]