मैकडोनाल्ड-केएफसी ने बंद की बैठकर खाने की सर्विस

नई दिल्ली

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के कारण उठाया कदम

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के कारण साफ-सफाई रखने और संक्रमण से बचने के लिए अब फूड-चेन भी अपनी ओर से जरूरी कदम उठा रहे हैं। भारत में फास्टफूड के दो सबसे बड़े नाम – मैकडोनाल्ड और केएफसी अब अपने खानों की डिलीवरी पर ज्यादा जोर दे रहे हैं।

देशभर में स्वास्थ्य मंत्रालय और तमाम राज्य सरकारों की भीड़ से दूर रहने की एडवाइजरी को ध्यान में रखते हुए ही दोनों कंपनियों ने ये फैसला किया है। ये फूड चेन बिना सीधे संपर्क के खाने की डिलिवरी (कॉन्टेक्टलेस डिलीवरी) को बढ़ावा दे रही हैं। बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने 31 मार्च तक रेस्टोरेंट्स में बैठकर खाने पर रोक लगा दी है। इसीलिए मैकडोनाल्ड और केएफसी (केएफसी) ने अपने रेस्टोरेंट में डाइन इन सर्विस को बंद कर दिया है। मैक्डोनाल्ड और डॉमिनोज ने शुरू की नई सर्विस- पश्चिमी और दक्षिणी भारत में मैक्डोनाल्ड को चलाने वाली कंपनी वेस्टलाइफ डेवलपमेंट के मुताबिक, कंपनी ने कॉन्टेक्टलेस डिलीवरी शुरू की है, ताकि कस्टमर तक खाना खुले हाथों से छुए बिना, सुरक्षित और उचित दूरी को ध्यान में रखते हुए पहुंचे।

सभी राइडरों को सैनिटाजर उपलब्ध कराए

कंपनी ने कहा कि उन्होंने अपने सभी राइडरों को सैनिटाजर उपलब्ध कराए हैं ताकि वो हर डिलीवरी से पहले और उसके बाद हाथों को साफ करें। साथ ही खाना रखने वाले बैगों की भी हर 3 घंटे में सफाई करें। भारत में डॉमिनोज पिज्जा को चलाने वाली कंपनी जुबिलेंट फूडवर्क्स लिमिटेड (जेएफएल) ने बयान जारी कर कहा कि देशभर में कंपनी के सभी 1,325 डॉमिनोज पिज्जा रेस्टोरेंट में जीरो-कॉन्टेक्ट डिलीवरी शुरू की गई है। जीरो-कॉन्टेक्ट डिलीवरी के तहत कस्टमर कंपनी की ऐप से ऑर्डर करने वक्त ये विकल्प चुन सकते हैं। कंपनी के मुताबिक ये सभी प्रीपेड ऑर्डरों पर लागू होगा। सेफ डिलीवरी एक्सपर्ट जब भी ऑर्डर लेकर पहुंचेगा, तो वो कस्टमर के दरवाजे के सामने एक बैग में उसे रख देगा और पीछे हट जाएगा।

Next Post

65000 रिटायर्ड नर्स और डॉक्टरों को ब्रिटेन ने वापस बुलाया, श्रीलंका में कर्फ्यू

Sat Mar 21 , 2020
लंदन/कोलंबो इंग्लैंड की चीफ नर्सिंग ऑफिसर रुथ मे ने कहा, ‘हम अकेले ही इस काम को नहीं कर सकते हैं, इसलिए मैं उन सभी नर्सों से काम पर वापस आने का निवेदन करूंगी जिन्होंने हाल में ही काम छोड़ा कोरोना वायरस संक्रमण से जंग लड़ने के क्रम में ब्रिटेन ने […]