फार्मा कंपनियों और प्रधानमंत्री मोदी के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंस, क्या रहा नतीजा?

विभव देव शुक्ला

पूरी दुनिया पर कोरोना का भयानक असर हुआ है। दुनिया के तमाम देश ऐसे हैं जहाँ इस बीमारी के चलते अब तक हज़ारों मौतें हो चुकी हैं। सूची में अधिकतर ऐसे देश शामिल हैं जो विकसित देशों की श्रेणी में आते हैं और वह तकनीक के लिहाज़ से बहुत आगे हैं।
हमारे देश में भी इस वायरस से प्रभावित तमाम मामले सामने आ रहे हैं। जिसके चलते सरकार और जनता हर तरह के एहतियाद बरत रही है। जहाँ एक तरफ आम लोगों के लिए सावधानी बरतना ज़रूरी है वहीं दूसरी तरफ सरकार के लोगों को जागरूक करना।

दवाओं का उत्पादन बढ़ाया जाए
इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की तमाम दवा बनाने वाली कंपनियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की। वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री मोदी का सबसे ज़्यादा ज़ोर इस बात पर था कि कंपनियाँ जितना हो सके उतना दवाओं का उत्पादन बढ़ा दें।
जिसके बाद कंपनियों ने भी इस बात का विश्वास दिलाया कि वह लोगों की जरूरतों को पूरा करने की हर कोशिश करेंगे। जितनी ज़्यादा से ज़्यादा दवाओं की ज़रूरत होगी उतना उत्पादन किया जाएगा। जिससे आम लोगों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

आपूर्ति में कमी नहीं होने देंगे
साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के सामने यह सुनिश्चित किया कि वह इस महामारी का सामना करने के लिए सरकार के साथ मिल कर 24 घंटे काम करेंगे। उनके लिए फिलहाल देश सबसे अहम है इसलिए वह किसी भी सूरत में आपूर्ति में कमी नहीं होने देंगे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ऐलान किया था कि कोरोना वायरस के चलते रविवार के दिन सुबह 7 बजे से लेकर रात के 9 बजे जनता कर्फ़्यू रहेगा। जब तक कोई बहुत ज़रूरी काम नहीं होता तब तक कोई भी व्यक्ति अपने घर से नहीं निकले।

Next Post

इटली में हालात मुश्किल होने के बावजूद 95 साल की महिला ने जीती जंग

Sun Mar 22 , 2020
विभव देव शुक्ला हर बड़ी लड़ाई न तो अकेले लड़ी जा सकती है और न ही अकेले जीती जा सकती है। सभी को एक साथ लेकर चलना पड़ता है, कमज़ोर से कमज़ोर कड़ी हो या मज़बूत से मज़बूत जब तक सभी एक पन्ने पर नज़र नहीं आते तब तक बड़ी […]