क्यों ट्वीटर पर एक दूसरे को विस्फोटक बताने लगे मोदी जी और केविन पीटरसन

विभव देव शुक्ला

देश और दुनिया में फिलहाल बहुत कुछ हो रहा है। बहुत कुछ जिससे लोग काफी डरे हुए हैं लेकिन सभी पूरे मन से इन हालातों का सामना भी कर रहे हैं। बहुत कुछ होते रहने की शृंखला में ऐसी घटनाएँ भी होती हैं जो छूट जाती हैं। इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन ने एक ट्वीट किया जिसका चर्चा हर जगह हो रहा है। ट्वीट में बात ऐसी थी कि ज़िक्र होना लाज़मी था। केविन का ट्वीट हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर था।

क्या लिखा केविन ने
अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर केविन ने हिन्दी में ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने लिखा
Namaste india hum sab corona virus ko harane mein ek saath hai , hum sab apne apne sarkar ki baat ka nirdes kare aur ghar me kuch Dino ke liye rahe , yeh samay hai hosiyaar rahene ka .App sabhi ko der sara pyaar 💕
My Hindi teacher –
@shreevats1

नमस्ते इंडिया हम सब कोरोना वायरस को हराने में एक साथ हैं। हम सब अपनी अपनी सरकार की बात का निर्देश करे और घर में कुछ दिनों के लिए रहे। यह समय है होशियार रहने का, आप सभी को ढेर सारा प्यार।
मेरे हिन्दी शिक्षक – @shreevats1

मोदी ने क्या जवाब दिया
कुछ समय बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केविन पीटरसन के इस ट्वीट का जवाब भी दिया। अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा,
Explosive batsmen who’ve seen teams through crises have something to say to us.
We too will come together to fight COVID-19. #IndiaFightsCorona

विस्फोटक बल्लेबाज जिसने टीमों को बहुत मुश्किल समय से गुज़रते हुए देखा है। उनके पास हम सभी के लिए कहने को कुछ है। हम भी साथ मिल कर कोरोना वायरस का सामना करेंगे।

लीडरशिप को बताया विस्फोटक
बात महज़ यहीं तक रुकी नहीं क्योंकि इसके बाद केविन ने फिर प्रधानमंत्री मोदी की इस बात का जवाब लिखा। केविन ने लिखा
Shukriya Modi ji , aapki leadership bhi kaafi bispotak hai
शुक्रिया मोदी जी, आपकी लीडरशिप भी काफी विस्फोटक है।

Next Post

अगर यह महामारी 'छलावा' है तो दुनिया भर में हुई 11.5 हज़ार मौतें भी झूठ हैं?

Sat Mar 21 , 2020
विभव देव शुक्ला राजनीति एक ऐसा मुद्दा है जिसका असर देश के लगभग सभी क्षेत्रों में देखने के लिए मिल ही जाता है। राजनीति से निकल कर आने वाली बातों का असर लोगों पर खूब होता है, चाहे बात अच्छी हो या कम अच्छी। इन बातों का दायरा कभी-कभी इतना […]