नक्सलियों से मुठभेड़ में 17 जवान हुए शहीद, आज बरामद हुआ शरीर

विभव देव शुक्ला

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में सुरक्षा बालों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुए जिसमें 17 जवानों ने अपनी जान गंवा दी। इसकी जानकारी छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा जारी की गई थी। फिलहाल मरने वाले सभी सुरक्षा बलों का शरीर बरामद कर लिया गया है।
शनिवार के दिन छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाके बस्तर के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के आस-पास सुरक्षा बलों और जवानों के बीच गोलीबारी हुई थी। जानकारी के मुताबिक इस मुठभेड़ में नक्सलियों के भी मारे जाने की ख़बर है लेकिन संख्या की पुष्टि नहीं हुई है।

14 जवान घायल हुए थे
कोराजगुड़ा की पहाड़ी में हुई इस मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बल के 14 जवान घायल हुए थे। वहीं पुलिस ने कई नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया था। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, मुठभेड़ के बाद से सुरक्षा बल के 17 जवान लापता थे।
जिनकी तलाश के लिए बड़ी संख्या में टीमों को जंगल भेजा गया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रविवार सुबह खोजी दल के सहयोग के लिए सुरक्षा बल के जवानों को भी भेजा गया। आखिरकार इस सर्च ऑपरेशन में सुरक्षा बल के 17 जवानों की बॉडी बरामद कर ली गई।

पहाड़ी पर शुरू हुई गोलीबारी
छत्तीसगढ़ पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि सुकमा जिले के एलमागुड़ा में नक्सली गतिविधियों की सूचना के बाद चिंतागुफा, बुरकपाल और तिमेलवाड़ा से डीआरजी, एसटीएफ और सीआपीएफ के कोबरा बटालियन के छह सौ जवानों को रवाना किया गया था।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब बल के जवान दोपहर दो बज कर करीब तीस मिनट पर राजगुड़ा गांव की पहाड़ी पर थे तब नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

कई नक्सली मारे गए
अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में चार से पांच नक्सली, जिसमें नक्सली नेता भी शामिल हैं, मारे गए और लगभग पांच नक्सली घायल हुए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना में घायल 14 जवानों को रायपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से दो की हालत गंभीर बताई जाती है।

Next Post

थाली, शंख और घंटियाँ सुन कर मोदी जी ने कहा 'धन्यवाद'

Sun Mar 22 , 2020
विभव देव शुक्ला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार के दिन देश के लोगों को कोरोना वायरस के लिए संबोधित किया था। जिसमें मोदी जी ने कई अहम बातें कही थीं, सबसे अहम था 22 मार्च का ‘जनता कर्फ़्यू’। लेकिन मोदी जी ने इसके अलावा भी कुछ ऐसी बातें कही थीं […]