पीएम की अपील के बाद भी लॉकडाउन में भक्तों के साथ अयोध्या पहुंचे योगी

लखनऊ

कोरोना इफेक्ट… पीएम की बैठक में सभी मंत्री बैठे दूर-दूर, उधर नवरात्रि के पहले दिन यूपी के सीएम पहुंचे अयोध्या, राम लला के दर्शन किए

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है। हालांकि, बुधवार को नवरात्रि के पहले दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंचे। अयोध्या में भगवान रामलला को टेंट से हटाकर उनके अस्थायी मंदिर में रखा गया है। यह राम जन्मभूमि परिसर में मानस भवन के नजदीक बनाया गया है। राम मंदिर निर्माण पूरा होने तक भगवान रामलला यहीं पर रहेंगे। यूपी के सीएम योगी के इस कदम पर कांग्रेस समेत कई अन्य पार्टियों ने सवाल उठाया है। दूसरी तरफ नई दिल्ली में पीएम मोदी की कैबिनेट बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया।

यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने कहा, ‘नवरात्रि का पहला दिन है। मां के दरबार में दर्शन के लिए जाने की मेरी भी इच्छा है। हालांकि, मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात मानी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी बात नहीं मानते। भीड़ के साथ दर्शन कर रहे हैं तो ऐसे में कैसे यूपी की जनता पीएम की बात माने?’ योगी कैबिनेट में मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि रामलला को अस्थायी मंदिर में शिफ्ट किया जाना भी जरूरी था। यह कार्यक्रम पहले से तय था। बतौर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है। मैं नहीं मानता कि उन्होंने कुछ भी गलत किया।

हे राम… भक्तों के जमावड़े के साथ योगी पहुंचे अयोध्या…

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दर्जनों भक्तों के साथ अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन किए। नवरात्र के पहले दिन रामलला को टेंट से अस्थायी मंदिर में स्थापित किए जाने का यह आयोजन था।

मंत्रिमंडल की बैठक में दूर-दूर रहीं कुर्सियां

नए कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बुधवार को आयोजित केंद्रीय मंत्रिमंडल के बैठक में भी ‘सोशल डिस्टेंसिग’ की नीति अपनाई गई। यह बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 7 लोक कल्याण मार्ग पर की गई। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, जब भी संक्रमित शख्स खांसता या छींकता है तब उस दौरान नाक या मुंह से निकला ड्रॉप ही संक्रमण फैला सकता है। इसलिए ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ आवश्यक है। लगभग 2 मीटर की दूरी बनाए रखना ही सोशल डिस्टेंसिंग है। पीएम आवास पर हुई बैठक में इस पहल को आम जनता के लिए संदेश के रूप में देखा जा रहा है।

जावड़ेकर ने कहा- दूर-दूर बैठना जरूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश भर में लॉकडाउन के फैसले की वकालत करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि यह फैसला देश हित में लिया गया है। प्रेस कांफ्रेंस में सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘पत्रकार वार्ता में भी सब दूर-दूर बैठे हैं।’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार रात देश में लॉकडाउन की घोषणा की तब देश भर में लोगों ने स्वीकार भी किया और स्वागत भी किया क्योंकि 130 करोड़ की आबादी को बचाने के लिए यह फैसला जरूरी था।

उत्तराखंड में बजट पास, डेढ़ मीटर दूर बैठे विधायक

उत्तराखंड के वित्तीय वर्ष 2020-21 का 53 हजार करोड़ रुपये का बजट बुधवार को बिना चर्चा के ही पास हो गया। सदन 57 मिनट तक चला, जिसके बाद अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। उत्तराखंड विनियोग विधयेक पास किया गया। सदन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोना वायरस की गंभीरता और राज्य की तैयारी के संबंध में जानकारी दी। बताया कि अब तक 50016 की स्क्रीनिंग में कोई कोरोना संक्रमण नही मिला है। पूरे राज्य को सील किया गया। 2082 की एयर पोर्ट पर स्क्रीनिंग की गई है। कहा कि रिस्पांस टीम लगातार काम कर रही है। लॉकडाउन के दौरान कोई भी गरीब खाद्यान्न से वंचित नहीं होगा। सत्र में भाग लेने वाले विधायकों, अधिकारियों के लिए एडवाइजारी जारी की गई। उन्हें बताया गया है कि वे क्या करें और क्या नहीं। विस के प्रवेश द्वार पर सदस्यों, आगंतुकों, अधिकारियों-कर्मचारियों को सैनिटाइजर और मास्क उपलब्ध कराए गए। थर्मल स्कैनिंग के बाद सदन में प्रवेश दिया गया।

Next Post

जब नवाब बानो का नाम राज कपूर को मुश्किल लगने लगा तब निम्मी का जन्म हुआ

Thu Mar 26 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। लड़की सालों इंतज़ार करती है। सालों बाद लड़का अपना वादा पूरा करने लड़की के पास आता है लड़की के बोल उसके आंखों से फूटने लगते हैं। हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड में पहली झलक मिलने वाली निम्मी की फ़िल्म ‘बरसात’ की। निम्मी लम्बे अरसे से बीमार […]