सोनिया ने पीएम को लिखा पत्र, राहुल गांधी ने भी की तारीफ

नई दिल्ली

राजनीति पर भारी कोरोना… महामारी के खिलाफ जंग में एक साथ आए सभी राजनीतिक दल, केंद्र सरकार के कदमों की कर रहे तारीफ

कोरोना वायरस के कारण राजानीतिक गतिविधियां बंद हो गई हैं। सभी दल इस महामारी के खिलाफ एकजुट नजर आ रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 21 दिनों के बंद का समर्थन करते हुए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि न्यूनतम आय गारंटी योजना (न्याय) लागू करके आजीविका के संकट का सामना कर रहे मजदूरों एवं गरीबों के खातों में आर्थिक मदद भेजी जाए। इसके साथ ही किसानों एवं छोटे कारोबारियों को राहत देने के लिए कदम उठाए जाएं।

प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर सोनिया ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए इस संकट से निपटने के लिए पूरी तरह से सरकार के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की महामारी ने लाखों लोगों का जीवन खतरे में डाल दिया है तथा पूरे देश में खासकर समाज के सबसे कमजोर वर्ग के लोगों की आजीविका एवं रोजमर्रा के जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। कोरोना महामारी को रोकने व हराने के संघर्ष में पूरा देश संगठित होकर एक साथ खड़ा है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कोराना वायरस से लड़ने के लिए आपकी सरकार द्वारा घोषित 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन का हम समर्थन करते हैं। मैं विश्वास दिलाती हूँ कि इस महामारी को रोकने के लिए उठाए गए हर कदम में हम सरकार को अपना पूरा सहयोग देंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने आग्रह किया कि कोरोना वायरस से लड़ रहे चिकित्साकर्मियों के लिए एन-95 मास्क एवं दूसरे सभी स्वास्थ्य सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाएं।

राहुल ने कहा-पहली बार सरकार का सही कदम

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार की तारीफ की है। 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान देश के गरीबों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार की आरे से वित्तीय सहायता पैकेज की घोषणा की से राहुल गांधी काफी खुश हैं। उन्होंने कहा है कि पहली बार इस सरकार ने सही कदम उठाया है।

चिदंबरम ने मोदी को बताया जनता का कमांडर

चिदंबरम ने कोविड-19 के खिलाफ जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करने का आह्वान किया है। मोदी के धुर विरोधी चिदंबरम ने कोरोना के खिलाफ जंग को ‘ऐतिहासिक क्षण’ और मोदी को कमांडर व जनता को सैनिक बताया। उन्होंने कहा कि मंगलवार को पीएम मोदी का 21 दिनों का देशव्यापी लॉकडाउन ऐतिहासिक क्षण है। हमें 24 मार्च से पहले तक बहसों को पीछे छोड़ लॉकडाउन को देखना चाहिए।

ओवैसी ने की अपील ‘वक्त ज़ाया नक्को करो’

हैदराबाद के सांसद और एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने लोगों से अपील करते हुए एक वीडियो शेयर किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में हैदराबादी स्टाइल में लिखा- “प्यारे, ऐसा वक्त इंशाअल्लाह फिर नहीं आएन्गा… ये वक्त भाईचारगी, मोहब्बत और इंसानियत का है… ऐसेइच ज़ाया नक्को जाने दो… इस ट्वीट के साथ ओवैसी ने एक वीडियो भी साझा किया है।

Next Post

जो अपने घरों से निकल रहे हैं उनको इन आदिवासियों से सीख लेनी चाहिए

Fri Mar 27 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। कोरोना वायरस प्रकोप के दौरान हर कोई एक्सपेरिमेंट कर रहा है। कोई संसाधन तथा समय की अधिकता के कारण तो कोई मजबूरी में। लॉक डाउन का सबसे ज्यादा असर गरीब, मजदूर तथा आदिवासियों पर देखा जा सकता है। वहीं छत्तीसगढ़ के बस्तर में आदिवासी बस्ती वायरस से […]