अब ऑटोमोबाइल कंपनियां बनाएंगी वेंटिलेटर्स

नई दिल्ली

कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऑटोमोबाइल मैन्युफेक्चरर्स को वेंटिलेटर्स बनाने को कहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘ऑटोमोबाइल कंपनियों ने इस संबंध में काम करना शुरू कर दिया है।

भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड को अगले दो महीनों में लोकल मैन्युफैक्चरर्स के साथ मिलकर 30 हजार वेंटिलेटर्स बनाने हैं। अभी देश के अलग-अलग अस्पतालों में 14 हजार से ज्यादा वेंटिलेटर्स कोरोना के मरीजों के लिए उपलब्ध हैं।’ नोएडा के अग्वा हेल्थकेयर को एक महीने में 10 हजार वेंटिलेटर बनाने हैं। अप्रैल के दूसरे हफ्ते से इनकी सप्लाई शुरू हो जाएगी। डीआरडीओ अगले हफ्ते से हर दिन 20 हजार एन99 मास्क बनाएगा। अभी देशभर के अस्पतालों में 11 लाख 95 हजार एन95 मॉस्क स्टॉक में हैं। दो घरेलू मैन्युफैक्चरर्स हर दिन 50 हजार एन95 मास्क बना रहे हैं। अगले हफ्ते तक ये हर दिन एक लाख बनाए जाएंगे। रेड क्रॉस ने आज 10 हजार पीपीई यानी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट डोनेट किये हैं। 20 लाख पीपीई के लिए साउथ कोरिया को ऑर्डर दिया गया है।

मारुति सुजुकी बनाएगी वेंटिलेटर, मास्क

कोरोना वायरस महामारी से मुकाबले में देश की दिग्गज कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (एमएसआईएल) भी शमिल हो गई है। कंपनी ने वेंटिलेटर, मास्क और अन्य सुरक्षात्मक उपकरण बनाने के लिए कुछ कंपनियों से समझौता किया है।

3प्लाई मास्क भी बनेगा

मारुति 3प्लाई मास्क का निर्माण करेगी। इसके लिए कंपनी ने अपने जॉइंट वेंचर कृष्णा मारुति लिमिटेड को अधिकृत किया है। इसके लिए जरूरी अनुमति मिलते ही इसका उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा। इस मास्क की आपूर्ति हरियाणा और केंद्र सरकार को की जाएगी। यही नहीं, कृष्णा मारुति के पार्टनर अशोक कपूर ने कहा है कि वह सरकार को दो मिलियन मास्क मुफ्त में देंगे।

Next Post

बीएचयू ने इजाद की एक घंटे में कोरोना जांच की तकनीक

Tue Mar 31 , 2020
वाराणसी कोरोना वायरस के प्रोटीन की परख पर आधारित रिवर्स ट्रांस्क्रीप्टेज पॉलीमर चेन रिएक्शन तकनीक भारत में घातक कोरोना वायरस (कोविड-19) के मरीजों की बढ़ती तादात और जांच में तेजी लाने के दबाव के बीच काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की महिला विज्ञानियों ने जांच की ऐसी नई तकनीक खोजी है, […]