वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने घर-घर में दी दबिश

नगर संवाददाता | इंदौर

सात में से चार हमलावरों पर रासुका, रीवा जेल भेजा जाएगा

कोरोना के संक्रमण से जान बचाने गए महिला डॉक्टर्स सहित मेडिकल टीम पर हमला करने वाले टाट पट्टी बाखल के सात हमलावरों को गुरुवार को छत्रीपुरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनमें दो का आपराधिक रिकॉर्ड भी है। सातों आरोपियों को रासुका लगाकर जेल भेज दिया गया है अन्य की तलाश जारी है। बुधवार को मेडिकल स्टाफ की टीम इलाके में संक्रमित महिलाओं का परीक्षण कर उन्हें जांच के लिए ले जाने के लिए गई थी।

नौशाद कादरी, शोएब,गुलरेज़,शाहरूख,मुबारिक,मुस्तफा,मुज्जु माजिद

इस दौरान लोगों ने टीम के साथ मारपीट कर पथराव किया था। वीडियो बुधवार रात तेजी से वायरल हुआ और मामला दिल्ली तक पहुंचा। इस बीच कलेक्टर मनीष सिंह व डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर रणनीति तैयार की। एसपी महेशचंद जैन के निर्देश पर एडिशनल एसपी राजेश व्यास ने सराफा सीएसपी डीके तिवारी, छत्रीपुरा के प्रभारी टीआई करणीसिंह शक्तावत, सराफा टीआई अमृता सोलंकी सहित 30 पुलिसकर्मियों की टीम गठित की।

समुदाय के लोगों व पूरे शहर की समझाईश के बाद गुरुवार को टाटपट्‌टी बाखल में लोगों ने मेडिकल टीम से कहा- कल की घटना के लिए शर्मिंदा हैं

पुलिस ने फुटेज देखे तो कइयों के चेहरों पर मास्क और रुमाल बंधे नजर आए। पुलिस ने अपने मुखबिरों की मदद ली और उनकी पहचान की। दोपहर को पुलिस टीम टाटपट्टी बाखल पहुंची तो वहां पहले से कुछ पुलिस बल तैनात था। सीएसपी सहित दोनों टीआई के साथ टीम ने 25 से ज्यादा घरों में दबिश दी। इस दौरान सात हमलावर अपने घरों में ही मिले। इनके नाम मो. मुस्तफा पिता हाजी मोहम्मद, नौशाद अहमद कादरी पिता मुश्ताक अहमद, मो. गुलरेज पिता अब्दुल हाजी, शाहरुख पिता फिरोज बाबा, मुबारिक पिता इशाक खान, शोएब उर्फ शोबी पिता मुख्तियार और मज्जू उर्फ माजिद पिता अब्दुल गफ्फार हैं।

ऐसी कार्रवाई करेंगे कि भविष्य में कोई भी ऐसा दुस्साहस नहीं करेगा : कलेक्टर

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई की जा रही है कि फिर शहर में कोई ऐसा दुस्साहस नहीं कर सकेगा। सिंह ने साफ कहा कि किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। आगे से स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। लोगों को समझना चाहिए कि बीमारी लाइलाज नहीं है। सिंह ने कहा कि इंदौर में 20 पेशंट ठीक हो गए हैं। दो निगेटिव रिपाेर्ट आने के बाद उनकी छुट्टी कर दी जाएगी। किसी भी व्यक्ति को थोड़े बहुत भी लक्षण हैं तो सीधे अस्पताल आएं। इधर डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र ने बताया कि अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Next Post

इनकी अनदेखी और नासमझी से बढ़ते चले गए पॉजिटिव

Fri Apr 3 , 2020
संतोष शितोले | इंदौर हद दर्जे की लापरवाही लगातार समझाइश के बाद भी कई लोग बीमारी की भयावहता को समझ नहीं रहे, उनकी मनमानी से मरीज बढ़ रहे हैं शहर में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। अब तक 75 लोगों की पॉजिटिव […]