शाहरुख और गौरी के इस कदम के चलते बीएमसी ने किया धन्यवाद

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि कोरोना से लड़ने के लिए देशवासी जो भी डोनेशन करना चाहें, पीएम केयर्स फंड में कर सकते हैं। इसके बाद तमाम लोगों ने इसमें सहयोग राशि दान की जिसमें कई बड़े बॉलिवुड सिलेब्‍स भी शामिल हैं। सुपरस्‍टार शाहरुख खान ने भी इस वायरस से लड़ने के लिए मदद को हाथ आगे बढ़ाया था। अब नई जानकारी के मुताबिक, उन्‍होंने अपना ऑफिस भी क्‍वारंटीन लोगों के लिए ओपन कर दिया है।

पहले उन्होंने अपनी इंडियन प्रीमियर लीग की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के सह-मालिकों के साथ मिलकर डोनेशन दिया। अब उन्होंने और उनकी पत्नी ने अपने चार मंजिला पर्सनल ऑफिस को क्वारंटीन लोगों के खोल दिया है।

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने अपने एक ट्वीट में बताया कि शाहरुख खान और गौरी खान ने अपने पर्सनल ऑफिस को क्वारंटीन लोगों के लिए खोलने का प्रस्ताव भेजा है।

बीएमसी ने लिखा, “शाहरुख खान और गौरी खान का हम धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने अपने चार मंजिला पर्सनल ऑफिस स्पेस को बच्चों, बुजुर्ग और महिलाओं की क्वारंटीन सुविधा के लिए ऑफर किया ताकि हमारी क्वारंटीन कैपेसिटी में मदद हो सके।”

शाहरुख ने पीएम केयर्स फंड में डोनेट करने के साथ-साथ कई और मदद का भी ऐलान किया है। उनकी फिल्म प्रोडक्शन कंपनी रेड चिलीज की तरफ से ट्वीट किया गया। इस ट्वीट में लिखा है, कोलकाता नाइट राइडर्स के को-ऑनर शाहरुख खान, गौरी खान, जूही चावला मेहता और जय मेहता ने पीएम केयर्स फंड में योगदान का संकल्प संकल्प लिया है।

इसके साथ ही रेड चिलीज के मालिक गौरी खान और शाहरुख खान ने महाराष्ट्र सीएम राहत फंड में भी योगदान का संकल्प लिया है। इसके अलावा हेल्थ केयर वर्कर्स के सपोर्ट और सुरक्षा के लिए 50,000 पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट यानी पीपीई उपलब्ध कराई जाएगी।

खान की इस बड़ी मदद के बारे में जैसे ही बीएमसी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया, ट्विटर पर एक बार फिर शाहरुख की तारीफ होने लगी। शाहरुख की इस मदद के तुरंत बाद ट्विटर पर #srkofficeforquarantine ट्रेंड करने लगा।

वहीं शाहरुख ने द अर्थ फाउंडेशन को भी डोनेशन दिया है जिसके तहत 5500 परिवारों को महीने तक मुफ्त खाना खिलाये जाने का प्लान है।



Next Post

बेंगलुरू से राजस्थान के अपने गांव तक 1846 किलोमीटर का सफर पैदल, ट्रक और बाइक पर सात दिन में किया पूरा

Sun Apr 5 , 2020
बेंगलुरू लॉकडाउन के बीच हौसले से मंजिल तक पहुंचने की मिसाल बने प्रवीण कुमार ये खबर राजस्थान के जालौर जिले में रहने वाले 28 वर्षीय प्रवीण कुमार की है, उनके हौसले और कभी न हिम्मत हारने की है। पेशे से वेल्डिंग का काम करने वाले प्रवीण ने कोरोना वायरस के […]