उज्जैन में कोरोना संदिग्ध महिला की मौत के बाद खुले कई राज


ब्यूरो | उज्जैन

आरडी गाड मेडिकल कॉलेज के आईसीयू में ताला लगाने का मामला

एंबुलेंस में ही महिला की मौत और आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के आईसीयू का ताला नहीं खुलने के मामले में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने कलेक्टर के आदेश के बाद भी मरीज को अस्पताल में भर्ती करना तो दूर आइसोलेशन वार्ड का ताला तक नहीं खोला। कॉलेज प्रशासन ने पहले तो परमिशन दे दी और जब परिजन मरीज को लेकर पहुंचे तो उसे अंदर नहीं लिया। इसमें तर्क दिया कि यहां पर कोरोना संक्रमित पॉजिटिव मरीज हैं, उनके साथ में नेगेटिव मरीज को कैसे ले सकते हैं। साथ ही यह तर्क भी दिया कि माधवनगर अस्पताल से महिला को बगैर वेंटिलेटर के भेज दिया। चाबी नहीं मिलने, कर्मचारी नहीं होने का बहाना बनाकर ताला नहीं खोला। कोरोना के पॉजिटिव मरीज अस्पताल से भाग न जाएं, इसके लिए आइसोलेशन वार्ड पर ताला लगा दिया गया, यहां पर पुलिस बल भी तैनात है। यह सब इसलिए कि मरीज कहीं बाहर जाकर थूक न दे, क्योंकि इस तरह की घटनाएं दूसरे शहरों में सामने आई हैं।

कुशलगढ़ में कोरोना संदिग्ध महिला की मौत |

थांदला। सीमा से लगे राजस्थान के शहर कुशलगढ़ में बीती रात कोरोना संदिग्ध एक 55 वर्षीय महिला की मौत हो गई। संदिग्ध महिला के पति और बेटे को राजस्थान प्रशासन ने कोरोना की जांच के लिए उदयपुर भिजवाया है। मृतका सहित परिवार के सेम्पल भी लिए हैं। इधर, मृतक की अत्येष्टि में थांदला के भी कुछ लोगों के शामिल होने की सूचना के बाद जिला प्रशासन हरकत में आया।

चौरसिया दूध भंडार सील

नीमच | जिले में कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे के निर्देश पर लॉकडाउन के दौरान मूल्य से अधिक दाम लेने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। इसी के तहत रविवार को खाद्य अधिकारी संजीव मिश्रा ने टैगोर मार्ग स्थित चौरसिया दूध भंडार को सील कर दिया। श्री मिश्रा ने बताया कि प्रशासन को शिकायत मिल रही थी कि चौरसिया दूध भंडार के संचालक द्वारा अधिक दामों पर दूध बेचा जा रहा है। इस पर अधिकारी ने ग्राहक बनकर इसकी पुष्टि की तो 25 रुपए कीमत की दूध की थैली 27 रुपए में बेचते पाया गया। इस पर खाद्य अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचे और कार्रवाई कर चौरसिया दूध भंडार को सील कर दिया गया।

सभी 28 सेम्पल नेगेटिव

नीमच | कोरोना जांच के लिए जिले से भेजे गए सभी सेम्पल की जांच रिपोर्ट आ गई है। सीएमएचओ डॉ. संगीता भारती ने बताया कि नीमच के कुल 28 सेम्पल कोरोना जांच के लिए भेजे गए थे, जो सभी नेगेटिव आए हैं। जिले में अभी कोई कोरोना पॉजिटिव प्रकरण नहीं है। जिले में अभी तक 113 लोग विदेश से आए हैं, जिनकी स्क्रीनिंग की जा चुकी है। 104 लोगों ने क्वॉरेंटाइन अवधि पूरी कर ली है और 9 लोगों को होम क्वॉरेंटाइन में रखा गया है। इसके साथ ही जिले में स्थापित क्वॉरेंटाइन में 27 व्यक्ति रखे गए हैं। मरकज निजामुद्दीन से आए 10 लोगों सहित कुल 27 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पूर्व में भीलवाड़ा से आई युवती की रिपोर्ट भी नेगेटिव पाई गई है।

38 घंटे बाद प्रशासन ने रखा पक्ष

महिला की मौत के मामले में प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने 38 घंटे बाद पक्ष रखा। बताया गया कि मौत सांस लेने में तकलीफ से हुई। तर्क यह भी दिया गया कि महिला को कोरोना आइसोलेशन वार्ड से अलग दूसरे वार्ड वार्ड में रखना था, हड़बड़ाहट में परिजन यह बात सुन नहीं पाए और आईसीयू का ताला तोड़ दिया। कलेक्टर शशांक मिश्र ने माधव नगर के प्रभारी डाॅ. महेश मरमट एवं सिविल सर्जन पर कार्रवाई की और प्रकरण की जांच के आदेश दिए हैं।

Next Post

कोरोना से पहले इस व्यक्ति की जान गांव वालों के तानों ने ले ली

Mon Apr 6 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में रविवार 5 अप्रैल की सुबह एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली। बंगागढ़ गांव निवासी दिलशाद मुहम्मद नाम के इस व्यक्ति ने अपने घर में ही फांसी लगा ली। 37 साल के मुहम्मद दिलशाद ने अपने घर में आत्महत्या कर ली। गुजरे […]