क्राइम ब्रांच के सवालों का जवाब नहीं दे रहा मौलाना साद, दोबारा भेजा नोटिस

नई दिल्ली

निज़ामुद्दीन मरकज़ का गुनहगार

राजधानी के निज़ामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज़ कोरोना का बड़ा केंद्र बन गया है। इस बड़ी लापरवाही के लिए मरकज़ के संचालक मौलाना साद के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया है, लेकिन मौलाना साद अभी फरार है। इस बीच क्राइम ब्रांच ने मौलाना साद को दूसरा नोटिस भेज दिया है।

मौलाना साद ने बताया है कि वो सेल्फ क्वारनटीन में हैं जिसके बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नोटिस भेजकर 26 सवालों के जवाब मांगे हैं। लेकिन किसी भी सवाल का जवाब मौलाना साद ने नहीं दिया है। मौलाना साद ने कहा है कि वो सेल्फ क्वारनटीन में हैं और मरकज अभी बंद है, लिहाजा किसी भी सवाल का जवाब फिलहाल नहीं दे सकते हैं। जब मरकज खुलेगा तब बाकी सवालों के जवाब दिए जाएंगे। मौलाना के इस रुख से जांच टीम संतुष्ट नहीं है और दूसरा नोटिस भेज दिया है।

इस बीच क्राइम ब्रांच की टीम ने मरकज में जांच-पड़ताल भी शुरू कर दी है। क्राइम ब्रांच सूत्रों का कहना है कि मरकज में अंदर कोई सीसीटीवी नहीं मिला है, साथ ही मरकज से जुड़े लोग गोल-मटोल जवाब दे रहे हैं। क्राइम ब्रांच को मरकज से कुछ दस्तावेज मिले हैं, जिनकी जांच की जा रही है।

मौलाना का पता बताने वाले को इनाम का एलान

अलीगढ़। तब्लीगी जमात का प्रमुख मौलाना साद गिरफ्तारी के डर से फरार है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए जगह जगह छापेमारी कर रही है। इस बीच अलीगढ़ बीजेपी युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष मुकेश सिंह लोधी की तरफ से बड़ा बयान दिया गया है। उन्होंने मौलाना साद का पता बताने वाले को 51000 रुपए का ऐलान किया है।

Next Post

कोरोना को दी मात, देशभर में लागू होगा भीलवाड़ा मॉडल!

Tue Apr 7 , 2020
भीलवाड़ा अच्छी खबर… स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने भीलवाड़ा में हुए काम की तारीफ के साथ ही इसे पूरे देश में लागू करने के दिए संकेत राजस्थान का भीलवाड़ा जिला पिछले महीने कोरोना वायरस संक्रमण का हॉटस्पॉट बनकर उभरा था। यहां के एक निजी अस्पताल में डॉक्टर […]