आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी ने माना ऑस्ट्रेलियाई टीम कोहली की चापलूसी करता है

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

विराट कोहली की कप्‍तानी में भारतीय टीम ने साल 2018-19 में हुए ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर पहली पर टेस्‍ट क्रिकेट में जीत दर्ज की थी। भारत ऑस्‍ट्रेलिया को ऑस्‍ट्रेलिया में हराने वाला पहला एशियाई देश बना था।

पूर्व कप्‍तान माइकल क्‍लार्क के उस कथन से ऑस्‍ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस इत्‍तेफाक नहीं रखते हैं जिसमें उन्‍होंने कहा था कि विराट कोहली के उग्र व्‍यवहार से बीते दौरे पर कंगारू टीम काफी दबाव में आ गई थी।

दरअसल ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम विराट कोहली को बिना वजह के उकसाना नहीं चाहती लेकिन मौजूदा टेस्ट कप्तान टिम पेन पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क के उन दावों को बिलकुल सच नहीं मानते कि खिलाड़ी अपने आईपीएल करार को बचाने के लिये भारतीय कप्तान पर छींटाकशी करने से डर रहे थे।

क्रिकेट के मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ी स्लेजिंग करने के लिए जाने जाते रहे हैं। विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के बीच पहले काफी छींटाकशी देखने को मिलती थी लेकिन कुछ समय से ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने कोहली के प्रति शांत रहने की रणनीति अपनाई है। क्लार्क ने कहा कि अब जब कभी भी भारत और ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना होता है तो उनकी नजर आईपीएल पर लगी रहती है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान क्लार्क ने ‘बिग स्पोर्ट्स ब्रेकफास्ट’ को दिए अपने बयान में कहा, “आर्थिक रूप से देखा जाए तो सभी को पता है कि भारत आईपीएल के कारण घरेलू स्तर पर कितना ताकतवर है। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट और खिलाड़ियों ने आईपीएल में अनुबंध पाने की ख्वाहिश के कारण भारत की चाटुकारिता की है। सभी को अप्रैल-मई में होने वाले आईपीएल में उनके साथ खेलना है, यही कारण है कि अब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कोहली के साथ स्लेजिंग करने से पीछे भागते हैं। कई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को चिंता होती है कि यदि वो कोहली को मैदान पर स्लेज करेंगे तो उन्हें आईपीएल में खेलने का मौका नहीं मिलेगा, जिससे वो लाखों डॉलर कमाने में पीछे रह जाएंगे।”

वहीं ये बात मानते हुए कमिंस ने बीबीसी से कहा, “मुझे लगता है कि भारत के खिलाफ सीरीज खेलने से पहले शायद एक बड़ा कारक वह 6 महीने थे जब मीडिया से लेकर हर कोई ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम पर टिप्पणी कर रहा था और यह साफ था कि वह चाहते थे ऑस्ट्रेलियाई टीम थोड़ा कम आक्रामक होकर मैदान से बाहर आए।”

कमिंस ने आगे कहा कि मैं कहूंगा कि क्रिकेट के मैदान पर दोस्तों को जीतने या हारने की कोशिश से बड़ा कारक होता। लेकिन आप कभी नहीं जानते, कि कुछ खिलाड़ियों के लिए यह एक कारक हो सकता है।

कई ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़‍ियों को आईपीएल फ्रेंचाइजी से आकर्षक ऑफर मिलते हैं। तेज गेंदबाज पैट कमिंस इस साल आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी बने थे। उन्‍हें कोलकाता नाइटराइडर्स ने रिकॉर्ड 15.5 करोड़ रुपए में खरीदा।


Next Post

ऑस्ट्रेलिया में 70 हजार भारतीयों के सामने भुखमरी जैसे हालात

Sat Apr 11 , 2020
कैनबरा महामारी का असर स्टूडेंट वीजा पर गए भारतीयों के सामने संकट, नौकरी गई, खाना-पीना भी हुआ मुश्किल, सरकार ने मदद से हाथ खींचे ऑस्ट्रेलिया में करीब 70 हजार भारतीय ऐसे हैं जो स्टूडेंट वीजा पर हैं। कोरोना संकट के बीच उन्हें कोई सरकारी मदद नहीं मिल रही है। इन […]